Breaking News

शनिवार के दिन करें मोरपंख से जुड़ा यह खास उपाय, मिलेंगे ये जबरदस्‍त लाभ

भगवान भोलेनाथ (Lord Bholenath) का प्रिय माह सावन 2022 शुरु हो गया है. शिव जी की पूजा के लिए श्रावण मास का विशेष महत्व(special importance) है लेकिन सावन में भगवान श्री कृष्ण की पूजा का भी विधान है. ग्रंथों के अनुसार वसंत के बाद श्रीकृष्ण (Sri Krishna) इस माह में भी रास रचाते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सावन (sawan 2022) में श्रीकृष्ण की प्रिय वस्तु मोरपंख के उपाय करने से बड़ी मुश्किलों से भी निजात पाई जा सकती है. आइए जानते हैं मोरपंख (Peacock feather) से जुड़े टोटके

धन लाभ

धन लाभ के लिए एक मोरपंख का टोटका बहुत असरदार है. इसके लिए एक मोरपंख को राधाकृष्ण मंदिर (Radhakrishna Temple) में स्थापित करें. प्रतिदिन उसकी पूजा करें और फिर 40 दिन बाद इसे अपनी तिजोरी या धन के स्थान पर रख दें. ऐसा करने से धन में वृद्धि के साथ लंबे समय से रुक हुए काम पूर्ण हो जाएंगे.

दुश्मन पर जीत
किसी विशेष व्यक्ति से परेशान हैं तो मंगलवार या शनिवार को मोर पंख पर हनुमान जी के मस्तक का सिंदूर से उसका नाम लिखें. रातभर इसे पूजा स्थान पर रखें और फिर अगली सुबह बहते पानी में प्रवाहित कर दें. ध्यान रखें ये प्रक्रिया गुप्त तरीके से करें. इस उपाय से दुश्मन भी दोस्त बन जाता है.

ग्रह शांति
ग्रहों के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए जिस ग्रह की पीड़ा मिल रही है उसका 21 बार मंत्र बोलकर मोरपंख पर पानी के छींटे दें. इसके बाद पूजा स्थान पर रख दें थोड़े दिन में चमत्कारी परिणाम नजर आने लगेंगे

नजरदोष
नवजात बच्चों को नजर बहुत लगती है ऐसे में बुरी नजर से बच्चों को बचाने के लिए मोरपंख को चांदी के ताबीज में डालकर उसके सिरहाने रख दें. इससे डर भी दूर होगा.

कालसर्प दोष
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार श्रीकृष्ण ने भी कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए मोरपंख मुकुट में धारण किया था.मोर की सर्प से शत्रुता है इसलिए कालसर्प दोष से ग्रसित लोगों को 7 मोर पंख तकिए के कवर में डालकर उस पर सोएं. ये टोटका कालसर्प दोष दूर करने में कारगर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *