Breaking News

वैन पर पलटा बेकाबू ट्रक: पांच लोगों की मौके पर मौत, मन्नत पूरी करने जा रहा था परिवार, मंजर देख सिहर उठे लोग

लखनऊ में इटौंजा-कुर्सी रोड स्थित टिकरी गांव के पास शुक्रवार को बड़ा हादसा हो गया। आम लदा ट्रक अनियंत्रित होकर वैन पर पलट गया। हादसे में वैन सवार परिवार के पांच सदस्यों की दर्दनाक मौत हो गई। तीन लोग गम्भीर रूप से घायल हुए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वैन सवार परिवार मन्नत पूरी करने के लिए उन्नाव से बाराबंकी स्थित लोधेश्वर महादेव मंदिर जा रहा था। हादसे की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने क्रेन की मदद से वैन में फंसे शवों को बाहर निकाला है।


उन्नाव औरास नंदौली गांव निवासी इंद्र बहादुर सिंह (60) की बेटी बबिता सिंह की शादी कानपुर देहात रसूलाबाद में हुई है। बबिता ने बेटे अर्नव सिंह (3) के लिए मन्नत मांगी थी। जिसे पूरी करने के लिए बबिता शुक्रवार सुबह पिता और भाइयों संग बाराबंकी जा रहीं थीं। वैन इंद्र बहादुर सिंह का बेटा अनुज सिंह चला रहा था। सीओ बीकेटी हृदयेश कठेरिया के मुताबिक इटौंजा से कुर्सी रोड होते हुए वैन सवार लोग बाराबंकी जा रहे थे। सुबह दस बजे करीब टिकरी गांव के पास पहुंचने पर सामने से आ रहा आम लदा ट्रक अनियंत्रित होकर वैन पर पलट गया था। जिससे वैन सवार बबिता सिंह के बेटे अर्नव सिंह (3), इंद्र बहादुर के बेटे आर्यन सिंह (18), अजीत सिंह, रिश्तेदार दुर्गेश और भवानी सिंह की मौत हो गई। सीओ के अनुसार इंद्र बहादुर सिंह, उनकी बेटी बबिता सिंह और वैन चला रहे अनुज सिंह को भी गम्भीर चोटें लगी हैं।

आम लदे 14 पहिया ट्रक के नीचे आने से वैन दब गई थी। हादसे के वक्त मौजूद रहे ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी थी। जिसके बाद इटौंजा इंस्पेक्टर टीम के साथ पहुंचे। ट्रक के नीचे दबे लोगों के कराहने की आवाज आ रही थी। ऐसे में जेसीबी मशीन की मदद से ट्रक को उठा कर उसके नीचे दबे लोगों को निकालने का काम शुरू किया गया। इंस्पेक्टर जितेंद्र सिंह के अनुसार पहले घायल इंद्र बहादुर सिंह, बबिता सिंह और अनुज सिंह को बाहर निकाला गया। इसके बाद शवों को निकालने के प्रयास किए गए। ट्रक के नीचे दबने से वैन तहस-नहस हो गई थी। शव अंदर ही फंसे थे। गैस कटर की मदद से गाड़ी काटने के बाद अंदर फंसे शवों को निकाला जा सका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *