Breaking News

विदेशों में टीम योगी के रोड शो को मिल रहा भरपूर समर्थन, ऑन द स्पॉट हो रहा एमओयू

अगले वर्ष 10 से 12 फरवरी के मध्य लखनऊ में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के जरिए 10 लाख करोड़ से अधिक निवेश का लक्ष्य तय कर चुकी योगी सरकार की इस मुहिम को विदेशों में भी भरपूर समर्थन मिल रहा है। यूपीजीआईएस 2023 के लिए विदेशी निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी कई टीमों को दुनिया के अलग-अलग देशों में भेजा है। इन टीमों ने 9 दिसंबर को जर्मनी के फ्रैंकफर्ट, यूके के लंदन, मेक्सको और कनाडा के टोरंटो में रोड शो का आयोजन किया। यहां विदेशी निवेशकों से उत्तर प्रदेश में निवेश की संभावनाओं को लेकर चर्चा की गई और उन्हें यहां व्यापार के अनुकूल माहौल, सुरक्षित निवेश और इंसेटिव्स को लेकर सरकार की सुगम नीतियों के बारे में बताया गया। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के साथ ही ईज ऑफ स्टार्टिंग बिजनेस की संभावनाओं से भी उन्हें परिचित कराया गया। इस अवसर पर निवेशकों ने भी उत्तर प्रदेश में निवेश की इच्छा जाहिर की। वहीं, कुछ निवेशकों ने तो ऑन द स्पॉट ही उत्तर प्रदेश में निवेश का एमओयू भी साइन कर दिया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री योगी ने पीएम मोदी की मंशा के अनुरूप उत्तर प्रदेश को वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य तय किया है। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 उसी लक्ष्य की पूर्ति के लिए उठाया गया कदम है।
टोरंटो में दिया गया सुरक्षित निवेश का भरोसा
उत्तर प्रदेश सरकार के एक प्रतिनिधि मंडल ने कनाडा के टोरंटो में रोड शो किया। विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना, पशुपालन मंत्री धर्मपाल सिंह सैनी और मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की अध्यक्षता वाले इस प्रतिनिधिमंडल ने निवेशकों को उत्तर प्रदेश में सुरक्षित निवेश का भरोसा दिलाया और उनकी हर क्वेरी का जवाब भी दिया। विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने इंडो-कनाडा चेंबर्स ऑफ कॉमर्स के सदस्यों का स्वागत किया और उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर हर तरह का सहयोग दिए जाने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर इंडो कनाडा चैंबर ऑफ कॉमर्स के 70 से 80 निवेशक उपस्थित रहे। इस दौरान इन्वेस्ट यूपी और कनाडा इंडिया फाउंडेशन (सीआईएफ) यूपीजीआईएस 2023 के प्रमोशन को लेकर हाथ मिलाए हैं। सीआईएफ कनाडा में उत्तर प्रदेश के ब्रांड एंबैस्डर के तौर पर कार्य करेगा।
माय हेल्थ सेंटर उत्तर प्रदेश में करेगा निवेश
रोड शो से पहले वन टू वन बिजनेस मीटिंग का भी आयोजन किया गया। इसी मीटिंग में कनाडा की कंपनी माय हेल्थ सेंटर के सीईओ सुरेश मदान ने कानपुर में मल्टी स्पेशियल्टी हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज व मेडिकल डिवाइस मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के लिए उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधिमंडल के साथ 2050 करोड़ रुपए के एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इससे पहले प्रतिनिधिमंडल ने टोरंटो में इंडियन कांसुलेट द्वारा आयोजित डिनर में माय हेल्थ सेंटर, ओएमईआरएस, आईएमईसी, ओटीपीपी जैसी कंपनियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उन्हें यूपीजीआईएस के लिए आमंत्रित किया। इस अवसर पर ये भी चर्चा की गई कि यूपी कैसे हेल्थकेयर, फूड प्रोसेसिंग व मीडिया जैसी कंपनियों में भागीदारी कर सकता है। दूसरी तरफ, जर्मनी के फ्रैंकफर्ट में औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ ने रोड शो के अवसर पर जर्मनी के निवेशकों को उत्तर प्रदेश में आमंत्रित किया। उन्होंने निवेशकों को हर संभव सहयोग के प्रति आश्वस्त किया। इस अवसर पर पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर जितिन प्रसाद व अन्य ऑफिशियल्स ने व्यापारिक संगठनों को यूपी में निवेश के अवसरों के बारे में जानकारी दी। अपर मुख्य सचिव (खेल और युवा मामले) नवनीत सहगल ने राज्य सरकार द्वारा निवेश के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में बताया, जिनमें इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार, नीतियों में बदलाव जैसी चीजें शामिल रहीं। प्रदेश में एमएसएमई के बड़े बेस और फूड बास्केट जैसी मजबूती को प्रेजेंट किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *