Breaking News

लोक देवता की मूर्ति टूटने से मचे बवाल पर पंचायत ने सुनाया फैसला, हिन्दू-मुस्लिम मिलकर बनवाएंगे मंदिर

राजस्थान (Rajasthan) के भरतपुर (Bharatpur) जिले के कामां थाना इलाके के करमुका गांव में दो दिन पहले बच्चों के खेल के दौरान लोक देवता (God) की मूर्ति टूट गई थी. लोकदेवता की मूर्ति टूटने को लेकर दो समुदाय आपस में भिड़ गए थे जिसमें महिलाओं (ladies) सहित पांच लोग घायल भी हुए थे और पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत (custody) में भी लिया था. गांव में तनाव की स्थित को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस को भी लगाया गया था.

गुरुवार को पुलिस (Bharatpur Police) की मौजूदगी में गांव करमुका में दोनों समुदाय की पंचायत हुई. पंचायत में दोनों समुदाय के लोगों में राजीनामा कराया गया और निर्णय हुआ कि जिस लोक देवता की मूर्ति को तोड़ने पर विवाद हुआ है उस लोक देवता की मूर्ति को दोनों समुदाय के लोग मिलकर दोबारा स्थापित करवाएंगे. साथ ही जिन लोगों ने आपत्तिजनक टिप्पणी कर झगड़े के दौरान अराजकता फैलाने की कोशिश की थी उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी.

मारपीट में कई घायल
भरतपुर के कामां थाना क्षेत्र करमुका गांव में 6 दिसंबर को दोपहर करीब 2 बजे कुछ बच्चे खेल रहे थे. पास ही में एक पेड़ के नीचे लोकदेवता के मंदिर में मूर्ति स्थापित थी. बच्चों के खेलते समय अचानक मंदिर में रखी प्रेत बाबा की मूर्ति टूट गई. शाम के समय जब ग्रामीण पूजा के लिए मंदिर पहुंचे तो घटना के बारे में पता लगा तो वह दूसरे समुदाय के लोगों के पास बच्चों की शिकायत करने के लिए पहुंचे.

इसी दौरान दोनों समुदाय के लोगों में कहासुनी हो गई और देखते ही देखते झगड़ा हो गया. इसके बाद मारपीट में एक समुदाय के पांच लोग घायल हो गए. झगड़े में घायल हुए लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और गांव में तनाव का माहौल देखकर पुलिस प्रशासन ने शांति व्यवस्था के लिए अतिरिक्त बल तैनात किया था.

पंचायत में हुआ फैसला
झगड़े में घायल लोगों ने कामां थाने में 23 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया. पुलिस ने 3 आरोपियों को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. दोनों समुदाय के लोगों ने गांव में पंच पटेलों के बीच पंचायत कर पुलिस की मौजूदगी में राजीनामा कर लिया. पुलिस की मौजूदगी में निर्णय लिया गया कि लोक देवता की मूर्ति की स्थापना दोनों समुदाय के लोग मिलकर कराएंगे.

एक समुदाय 52 हजार और दूसरा समुदाय 51 हजार रुपए खर्च करके लोकदेवता की मूर्ति और मंदिर का निर्माण करवाएगा. इसके अलावा पंचायत में यह भी सामने आया था कि एक समुदाय के एक व्यक्ति ने अराजकता फैलाने के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस ने क्या कहा
डीएसपी कामां प्रदीप सिंह का कहना है कि, कामां क्षेत्र में जो ब्रज की भूमि है यहां दोनों समुदाय हिन्दू-मुस्लिम आपसी भाईचारे और सौहार्दपूर्ण वातावरण के साथ रहते हैं. मंगलवार के दिन कामां क्षेत्र के करमुका गांव में लोक देवता की मूर्ति बच्चों से खेलते समय खंडित हो गई थी जिसको लेकर गांव में विवाद हो गया था. पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला. कुछ व्यक्तियों को हिरासत में भी लिया गया था. आपसी सदभाव बनाये रखने के प्रयास किये गए.

डीएसपी ने बताया कि, दोनों समुदायों की वार्ता कराइ गई और इस वार्ता में दोनों समुदाय के लोगों ने भविष्य में आपसी भाईचारा और सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने का वादा किया है. हिन्दू और मुस्लिम भाइयों द्वारा लोकदेवता के खंडित मूर्ति की दोबारा से स्थापना कराइ जाएगी. गांव में शांति का माहौल बना है और आज भी दोनों समुदाय के बच्चे खेल रहे हैं. गांव में शांति है, दोनों समुदाय के लोगों ने गांव में शांति और आपसी सद्भाव बनाये रखने का आश्वासन दिया है. जिन लोगों ने आपसी सौहार्द बिगड़ने के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी की थी उनके खिलाफ कार्यवाई की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *