Breaking News

लाल किले से राहुल गांधी की हुंकार, बोले- नफरत को भारत से मिटाने की जरूरत

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का आज 109वां दिन है. राहुल गांधी देश के कई राज्यों से होते हुए दिल्ली पहुंचे हैं. शनिवार को देश की राजधानी में राहुल गांधी ने अपनी यात्रा को लाल किला पहुंचकर विराम दिया है. राहुल के साथ यहां पर हजारों लोगों की भीड़ दिखाई दी. दिल्ली की जिन सड़कों से भारत जोड़ो यात्रा निकाली गई है वहां पर यातायात पूरी तरह से बाधित रहा है. राहुल गांधी के साथ अभिनेता से नेता बने साउथ के सुपर स्टार कमल हासन भी इस यात्रा में शामिल हुए हैं.

लाल किले पर यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारत जोड़ो यात्रा का मकसद हिंदुस्तान से नफरत को मिटाना है.’ उन्होंने आगे कहा , ‘मीडिया चैनल भी नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं. 24 घंटे बस हिंदू-मुस्लिम दिखाते हैं. मैं कन्याकुमारी से चला हूं लेकिन यह सच नहीं है. मैं खुद लाखों लोगों से मिला हूं. सभी लोग आपस में एक दूसरे से प्यार करते हैं. ‘

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई में यह यात्रा शनिवार सुबह बदरपुर बॉर्डर के रास्ते दिल्ली में दाखिल हुई. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी कुछ दूरी तक इस यात्रा में शामिल हुईं. कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं के अलावा बहुजन समाज पार्टी के सांसद श्याम सिंह यादव और द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) नेता टी सुमथि ने भी राहुल गांधी के साथ पदयात्रा की.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने अपनी मां सोनिया गांधी के साथ एक तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट किया, जो मोहब्बत इनसे मिली है, वही देश से बांट रहा हूं. यात्रा सुबह लगभग 10 बजे दक्षिणी दिल्ली में आश्रम चौक पहुंची जहां जयराम आश्रम में राहुल गांधी और अन्य सभी भारत यात्रियों ने कुछ देर विश्राम किया. राहुल गांधी ने यहां सियाराम दरबार के दर्शन किए. अपराह्न लगभग एक बजे यह यात्रा फिर से शुरू हुई जो लाल किले तक जाएगी.

दो जनवरी तक होगा विश्राम, फिर चलेगी यात्रा

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा, यात्रा को 108 दिन हो गए हैं. आज के बाद से दो जनवरी तक विश्राम रहेगा ताकि कंटनेर की मरम्मत हो सके. इसके बाद तीन जनवरी को यात्रा फिर से आरंभ होगी. उन्होंने बताया कि राहुल गांधी शनिवार शाम राष्ट्रीय स्मृति स्थल पहुंचकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे. वह महात्मा गांधी की समाधि राजघाट, पंडित जवाहरलाल नेहरू के स्मारक शांति वन, इंदिरा गांधी की समाधि शक्ति स्थल और राजीव गांधी की समाधि वीर भूमि और लाल बहादुर शास्त्री की समाधि विजय घाट भी श्रद्धांजलि अर्पित करने जाएंगे.

कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा ने आरोप लगाया कि बीजेपी और सरकार कोविड के बहाने राजनीति कर रहे हैं और यात्रा में अवरोध पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा, कोई भी चीज इस यात्रा को नहीं रोक सकती…अगर विशेषज्ञों की राय के आधार पर सरकार कोई प्रोटोकॉल तय करती है तो हम उसे मानेंगे. वैसे कोविड को लेकर सबसे पहले इस सरकार को हमने आगाह किया था.

नफरत और डर फैला रही बीजेपी

यात्रा के दिल्ली में प्रवेश करने के मौके पर राहुल गांधी ने बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर देश में डर और नफरत फैलाने का आरोप लगाया और कहा कि उनकी पार्टी के लोग मोहब्बत फैला रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘इस यात्रा में अमीर, गरीब, किसान, मजदूर, हर धर्म और भाषा के लोग शामिल हैं. इस यात्रा में आपको नफरत नहीं दिखाई देगी. यहां सभी लोगों को मोहब्बत और इज्जत दी जाती है.’

उन्होंने कहा, ‘यह यात्रा, महंगाई, बेरोजगारी, डर और नफरत के खिलाफ है.’ कन्याकुमारी से सात सितंबर को शुरू हुई यह यात्रा अब तक नौ राज्यों-तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा से गुजर चुकी है. राहुल गांधी के नेतृत्व में की जा रही पदयात्रा ने अब तक लगभग 3200 किलोमीटर की दूरी तय की है. यात्रा आठ दिनों के विराम के बाद उत्तर प्रदेश, पंजाब और अंत में जम्मू कश्मीर की ओर बढ़ेगी.

अब तक इस यात्रा में पूजा भट्ट, रिया सेन, सुशांत सिंह, स्वरा भास्कर, रश्मि देसाई, आकांक्षा पुरी और अमोल पालेकर जैसी फिल्मी और टेलीविजन हस्तियों के साथ-साथ समाज के कई अन्य वर्गों के लोगों की भागीदारी देखी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *