Breaking News

राहुल की यात्रा से दूर हुए गहलोत-पायलट के शिकवे!, जयराम बोले- 2023 तक जारी रहेगी सुलह

राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा आठवें दिन सवाई माधोपुर जिले में प्रवेश कर गई है जहां आज यात्रा का दिन महिलाओं को समर्पित रखा गया था. वहीं इसी बीच कांग्रेस ने स्वीकारा है कि राज्य में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच मतभेद चल रहे हैं. हालांकि, कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने साफ किया कि दोनों नेताओं के बीच कोई लड़ाई नहीं है. रमेश ने मीडिया से बात करते हुए दावा किया कि दोनों नेताओं के बीच सुलह साल 2023 के चुनावों तक जारी रहेगी.

मालूम हो कि राहुल के साथ सोमवार को यात्रा में राहुल के साथ प्रियंका गांधी की फैमिली भी चल रही है. वहीं स्थानीय महिला नेताओं के साथ प्रियंका और उनकी बेटी मिराया बातें कर रही है. वहीं यात्रा के दौरान प्रियंका गांधी कालबेलिया डांस पर भी थिरकी. बता दें कि राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की भारत जोड़ो यात्रा के आने से पहले गहलोत और पायलट के बीच जुबानी जंग चरम पर थी.

जहां यात्रा से पहले केसी वेणुगोपाल ने जयपुर आकर दोनों के बीच सुलह का दावा किया और जयपुर से एकजुटता का संदेश दिया. इसके बाद राजस्थान में अब तक की यात्रा में गहलोत और पायलट एक साथ चल रहे हैं और बीते रविवार को हिमाचल प्रदेश के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भी गहलोत और पायलट एक ही विमान में सवार होकर शिमला पहुंचे थे.

दोनों नेता पार्टी के लिए जरूरी : जयराम रमेश
वहीं रमेश ने सोमवार को कहा कि दोनों नेता अपनी-अपनी विशेषताएं रखते हैं और दोनों ही पार्टी के लिए जरूरी हैं. उन्होंने कहा कि राजस्थान की पॉलिटिकल लड़ाई में कोई महिला शामिल नहीं है और गहलोत पायलट के बीच कोई लड़ाई नहीं है, बस कुछ मतभेद हैं. रमेश ने कहा कि राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश में कहा था कि दोनों पार्टी के लिए एसेट हैं जहां एक अनुभवी है और दूसरी तरफ एक युवा, लोकप्रिय, काफी ऊर्जावान चेहरा है. उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई में दोनों ही नेता पार्टी के लिए जरूरी है.

वहीं रमेश ने रविवार को गहलोत-पायलट के शिमला साथ जाने का जिक्र होने पर कहा कि कल जो मैंने देखा है उससे यह साफ हो जाना चाहिए कि भारत जोड़ो यात्रा का असर राजस्थान की कांग्रेस की राजनीति पर सकारात्मक हुआ है, दोनों कल शिमला में भी थे और राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में चल भी रहे हैं. रमेश ने दावा किया कि दोनों के बीच एक नया तालमेल दिखाई दे रहा है जो 2023 के चुनावों तक भी जारी रहेगा.

समय सब ठीक कर देता है : गहलोत
वहीं सीएम अशोक गहलोत ने रविवार को एक ताजा टीवी इंटरव्यू में पायलट के साथ खींचतान पर कहा कि समय के साथ सब ठीक हो जाता है और एक कांग्रेस कार्यकर्ता होने के नाते पहला लक्ष्य देश के सामने आ रही चुनौतियों को देखना है. सीएम ने कहा कि हमारी पार्टी ने आजादी के वक्त और इतने सालों में कई बलिदान दिए हैं लेकिन कांग्रेस ने देश की एकता बनाए रखी, ऐसे वक्त में बीजेपी की फासीवादी सोच से निपटना बड़ा चुनौती है. गहलोत ने कहा कि देश के वर्तमान हालातों में कांग्रेस का विकल्प बनना बहुत जरूरी है, हमारी लड़ाई विचारों की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *