Breaking News

राज्यसभा चुनाव: आधी से अधिक सीटों पर उम्मीदवार बदलने के मूड में भाजपा, इन्हें मिल सकता है फिर से मौका

राज्यसभा की 57 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में भाजपा अपनी जीत वाली सीटों में लगभग आधे पर नए चेहरे ला सकती है। भाजपा के 25 सांसद रिटायर हो रहे हैं, जबकि वह लगभग 22 सीटें जीत सकती है। पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व विभिन्न राज्यों के साथ उम्मीदवारों को लेकर मशविरा कर चुका है। वह एक-दो दिन में अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर सकता है। नामांकन की आखिरी तिथि 31 मई है।

राज्यसभा की सीटों के लिए 10 जून को मतदान होना है। विभिन्न राज्यों की विधानसभाओं की दलीय स्थिति को देखते हुए भाजपा मध्य प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, झारखंड, बिहार, हरियाणा, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में सीटें जीतने की स्थिति में है। जिन प्रमुख नेताओं का कार्यकाल समाप्त हो रहा है, उनमें राज्यसभा में नेता सदन केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी व केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शामिल हैं। इन सभी को फिर से राज्यसभा में लाया जाएगा, हालांकि कुछ के राज्य बदल जाएंगे।
उत्तर प्रदेश की 11 सीटों में से 8 सीटें जीत सकती है भाजपा

उत्तर प्रदेश की 11 सीटों में से भाजपा 8 सीटें जीत सकती है। यहां पर भाजपा के 5 सदस्य रिटायर हो रहे हैं। पार्टी के पास इन 8 सीटों के लिए एक दर्जन से ज्यादा प्रमुख नाम चर्चा में है। इनमें मौजूदा सांसद जफर इस्लाम, संजय सेठ, सुरेंद्र नागर और शिव प्रताप शुक्ला के साथ पूर्व उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, लक्ष्मीकांत वाजपेयी, प्रियंका रावत, जयप्रकाश निषाद के नाम शामिल हैं। हरियाणा में एक सीट पर भाजपा राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम के नाम की चर्चा है। उत्तराखंड की एक सीट के लिए पार्टी को नाम तय करना बाकी है, यहां पर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बड़े दावेदार हैं।

बिहार में भाजपा को दो सीटें मिलने की संभावना
बिहार में दो सीटें भाजपा को मिलने की संभावना है। इनके लिए एक दर्जन नामों की चर्चा है। पार्टी यहां पर सामाजिक समीकरणों को ध्यान में रखकर ही टिकट तय करेगी। मध्य प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र में भाजपा को दो-दो सीटें मिलने की संभावना है, जबकि राजस्थान व झारखंड में एक-एक सीट मिल सकती है।

कई राज्यों ने स्थानीय नेता को उम्मीदवार बनाए जाने की मांग की
सूत्रों के अनुसार, कई राज्यों ने स्थानीय नेता को ही अपने यहां से उम्मीदवार बनाए जाने की मांग की है। ऐसे में पार्टी विभिन्न समीकरण को ध्यान में रखते हुए उम्मीदवार का नाम तय करेगी। सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय नेतृत्व ने जीतने की संभावना वाले सभी सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा का काम पूरा कर लिया है और एक-दो दिन में सूची घोषित कर दी जाएगी। जिन लोगों को उम्मीदवार बनाया जाना उनको दो दिन पहले सूचना दे दी जाएगी, ताकि वे तैयारी कर सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *