Breaking News

राखी ने किया भगवान से डायरेक्ट कनेक्शन, जीत के लिए भेजा E-mail

जल्द ही ‘बिग बॉस 14′(‘Bigg Boss 14’) का फिनाले वीक(Finale week) आने वाला है। जीतने की दावेदारी रखने वाले सभी कंटेस्टेंट(contestant) अपने अपने लिए भगवान से प्राथर्ना कर रहे हैं। फिनाले वीक में राखी सावंत(Rakhi Sawant) ने भी अपनी दावेदारी दिखाई दी, जिससे राखी काफी खुश हैं। राखी के दिमाग मे यही बात चल रही है कि बड़ी मेहनतों के बाद उन्हें ये मुकाम हासिल हुआ है कम से कम वो फिनाले के मंच तक तो पहुंच ही जाएं। राखी की ये ख्वाहिश तो पूरी हो गई है, लेकिन अब उनका सपना है  सेकेंड रनर-अप बनने का। राखी की  दिल से ये इच्छा है कि वह सेकंड रनर-अप बन जाएं फिर चाहे शो कोई भी कंटेस्टेंट जीते ।

भगवान को भेज रही ई-मेल

 

राखी की इस विश को पूरा करने के लिए उन्होंने बहुत ही अनोखा कदम उठाया है। राखी ने विश पूरी करने के लिए भगवान को ई-मेल भेजना शुरु कर दिया है। शो के मेकर्स ने आने वाले एपिसोड का प्रोमो सोशल मीडिया में शेयर किया है, जिसमें राखी ख्यालों का एक लैपटॉप बना कर, एक लंबा-चौड़ा मेल टाइप कर रही है। इसका प्रोमो शो के मेकर्स ने रिलीज किया है। इस प्रोमो में  आप देख सकते है कि कैसे राखी सावंत पहले भगवान को मना रही हैं कि वह उन्हें रनर-अप बना दें। वह कहती हैं, ‘हे परमेश्वरम स्टेज तक पहुंचा दो। सेकंड रनर-अप में डाल दो फिर जीते कोई भी। आप सोच रहे होगे कि राखी दिन-ब-दिन बहुत लालची हो रही है। आप मेरी जगह होते तो क्या करते प्रभु? क्या आप चुपचाप से दरवाजा खोलकर बैग लेकर निकल लेते? नहीं ना? रणभूमि में हैं। रनर-अप में पहुंचा दो ना प्रभु? 5 लोग हैं। एक विनर और एक रनर-अप। इतना तो चाह ही सकती हूं ना प्रभु?’

मैने ई-मेल किया है मेरा ई-मेल पढ़ लो

इतना ही नहीं राखी सावंत ने भगवान को एक मेल लिखना शुरु किया। राखी का ये मेल उनके मुंह से शुरु हुआ। राखी कहती है कि हे प्रभु कृप्या करके मदद करें। फिनाले में पहुंचाएं। मेरे लिए आप कोशिश करें कि मैं रनर-अप भी बनूं। थैंक्यू सो मच। आपने मुझे इतना सपोर्ट किया। देश की जनता ने मुझे इतना सपोर्ट किया। मैं उम्मीद करती हूं कि आपको मेरा मेल अब तक मिल चुका है। रिगार्ड्स, प्लीज रिप्लाई। लव यू गॉड।’
इसके बाद राखी आसमान की ओर देखते हुए कहती हैं कि प्रभु मैंने ईमेल किया है। मेरा ईमेल पढ़ लो प्रभु।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *