Breaking News

रतलाम रेल मंडल में बड़ा हादसा, मालगाड़ी के 16 डिब्बे बेपटरी, दिल्ली-मुंबई रूट पूरी तरह ठप

गुजरात (Gujarat) के दाहोद के पास रविवार-सोमवार रात बड़ा रेल हादसा (train accident) हो गया. रतलाम रेल मंडल (Ratlam Railway Division) में 2 दिन में यह दूसरा बड़ा रेल हादसा है. इस हादसे से दिल्ली-मुंबई रेल लाइन पर यातायात ठप हो गया है. रात करीब 1 बजे मंगलमऊड़ी और लिमखेड़ा स्टेशन के बीच से गुजर रही मालगाड़ी गुजरात के दाहोद के पास पटरी से उतर गई. उसके 16 डिब्बे पटरी से उतर गए. हादसे की सूचना मिलते ही डीआरएम सहित रतलाम रेल मंडल के वरिष्ठ अधिकरी मौके पर पहुंच गए. इस हादसे से दिल्ली मुंबई रूट की 20 से अधिक ट्रेनें प्रभावित हुई हैं.

जानकारी के मुताबिक, 58 डिब्बे की यह ट्रेन रतलाम से मुंबई की ओर जा रही थी. इस बीच जब वह मंगलमऊडी और लिमखेड़ा स्टेशन के बीच से गुजरी तो हादसे का शिकार हो गई. इसके 16 डिब्बे बेपटरी हो गए. हादसे की सूचना मिलने पर डीआरएम सहित रतलाम रेल मंडल के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और राहत और बचाव कार्य शुरू किया गया. हादसे की वजह से दिल्ली से मुंबई की ओर जाने वाली 20 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. इन ट्रेनों को अहमदाबाद पालनपुर, अजमेर और चित्तौड़गढ़ रूट से चलाया चलाया जा रहा है.

घटना की वजह स्पष्ट नहीं
बताया जा रहा है कि फिलहाल घटना की वजह सामने नहीं आई है. हादसा इतना भीषण था कि अप और डाउन दोनों रेलवे ट्रैक पर मालगाड़ी के डिब्बे बिखर गए. खबर है कि हादसे की वजह से ओवरहेड इलेक्ट्रिसिटी लाइन भी टूटी है. उसे सुधारने में वक्त लग सकता है. अधिकारियों ने बताया कि रेलवे की पहली प्राथमिकता डिब्बों को अलग कर इस रूट को क्लियर करना है.

दो दिन पहले हुआ था ये हादसा
इंदौर से होकर उदयपुर जाने वाली रणथंबोर एक्सप्रेस के दो कोच 16 जुलाई की रात रतलाम के पास पटरी से उतर गए थे. ये हादसा रतलाम के भक्तन की बावड़ी इलाके में उस वक्त हुआ था, जब यह ट्रेन प्लेटफॉर्म नंबर दो से पीछे की ओर आ रही थी. हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के हताहत होने की खबर नहीं थी. हादसा होते ही आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और उन्होंने यात्रियों को दुर्घटनाग्रस्त कोचों से निकालकर दूसरे कोच में पहुंचाया. यह ट्रेन इंदौर से चलकर रतलाम स्टेशन आई थी और यहां इसका इंजन बदला जा रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *