Breaking News

मुज्जफरनगर: कृषि बिल के विरोध में भारतीय किसान यूनियन का देश व्यापी चक्का जाम!

मुजफ्फरनगर: कृषि बिल के विरोध में जहां आज पंजाब हरियाणा और कई राज्यों में किसानों द्वारा धरना प्रदर्शन किया जा रहा है, वही उत्तर प्रदेश में भी भारतीय किसान यूनियन ने इस बिल का विरोध करते हुए पूरे प्रदेश में चक्का जाम करने की घोषणा की थी।  जिसके चलते जनपद मुज़फ्फरनगर में सैकड़ो किसानो ने सड़को पर उतर कर दिल्ली देहरादून नेशनल हाईवे 58 और पानीपत खटीमा मार्ग पूरी तरह से जाम कर दिया। जगह जगह हाईवे पर किसान टैंट लगाकर चक्का जाम किये सड़को पर बैठे हुए है। इस दौरान पुलिस प्रशासन और PAC बल सड़को पर उतर कर मुस्तैद है।

वंही आम आदमी राजनैतिक पार्टी के कार्यकर्ताओ ने भी भारतीय किसान यूनियन को अपना पूर्ण समर्थन देकर चक्का जाम कर धरना प्रदर्शन में शामिल रहे है। राष्ट्रीय राजमार्ग पर आज चक्का जाम के चलते ट्रक और भारी  वाहन सडको किनारे लम्बी लाइन में खड़े देखे गए है वंही आपातकालीन स्थिति  में वाहनों को चक्का जाम मुक्त भी किया जा रहा है। भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता भरी धूप में सडको पर बैठ कर किसान विरोधी बिल को लेकर सरकार की निंदा कर रहे वंही नारे लगाकर और हाथो में सरकार विरोधी नारो की तख्तियां लेकर अपना रोष प्रकट कर रहे है।

मुज़फ्फरनगर में दिल्ली देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर धरना प्रदर्शन कर रहे भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओ के बीच पंहुचे राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि ये पुरे देश में हो रहा है। मुज़फ्फरनगर में भी 10 से 15 जगहों पर हो रहा है। ये किसान के विरोध का बिल है। हमारी डिमांड ये की इसको वापस लिया जाये। सरकार बैठकर बातचीत करे कि क्यों इसको लाना चाहती है।

अगर ये आये तो इसमें क्या संसोधन हो सकता है, इससे मंडियां ख़तम होंगी, मंडी में खरीद नहीं होगी, मंडी के बाहर टैक्स फ्री खरीद होगी, सस्ते में खरीदेंगे। मंडी में लेकर जायेगे तो टैक्स लगेगा। धीरे – धीरे हमारा मंडी सैक्टर बर्बाद हो जायेगा। जब मंडी सैक्टर बर्बाद होगा तो साल दो साल बाद बहुत सस्ते दामों में खरीदेंगे, हमें ये आशंका है कि कंट्रोलिंग सिस्टम कोई नहीं रहेगा। दूसरा एमएसपी कानून बनाया जाये जिसमे एमएसपी से निचे देश में कोई खरीद नहीं होगी।

सरकार ने कभी किसानो से बात नहीं की , और जब हम पूछ रहे है तो उसका जवाब देना पड़ेगा। ये पूर्ण रूप से किसान के विरोध में है। ये जो बड़े बड़े बलेयर आ रहे है। उसके रस्ते खोले जा रहे है। वो एग्रीकल्चर सैक्टर में आये, अडानी जैसे लोग आएंगे, वाल्वाट जैसी कंपनिया आएगी। उनसे हमारा किसान मुकाबला नहीं कर सकता, आगे की रणनीति रहेगी कि हमारा आंदोलन जारी रहेगा। आज जाम लगाया है आगे जो भी किसान तय करेगा हम भी उनके साथ में रहेंगे। 15 जगहों के आस पास प्रदर्शन हो रहा है। सरकार और WHO की जो गाईड लाइन है उसके अनुसार ही हर स्थान पर 100 लोगो के आस पास ही पाएंगे। सभी सोशल डिस्टेंडिग का पालन कर रहे है और मास्क लगाया हुआ है। मांग पूरी नहीं होती है तो आंदोलन चलता रहेगा। हम पार्लियामेंट के घेराव करने गए थे मगर वहां हमको रोक लिया गया।

राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर चल रहे भारतीय किसान यूनियन के चक्का जाम धरने में सैंकड़ो की संख्या में आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओ ने भाकियू के धरने में शामिल होकर अपना पूर्ण समर्थन देते हुए जमकर नारे बाजी की, आम आदमी पार्टी के जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष रोहन त्यागी  ने बताया कि आम आदमी पार्टी पूरे देश में भारतीय किसान संगठन का समर्थन कर रही है। आम आदमी पार्टी भारतीय किसान यूनियन का  साथ दे रही है। रामपुर तिराहे  पर सभी कार्यकर्ता भारतीय किसान यूनियन के समर्थन में धरने पर बैठे हुए हैं। जब तक धरना चलेगा आम आदमी पार्टी का भी समर्थन जारी रहेगा। संसद से लेकर सड़क तक हम संघर्ष करते रहेंगे ,किसानों के साथ डटे रहेंगे संजय जी जिस तरीके से संसद में किसानों की आवाज को बुलंद कर रहे हैं। हम मिलकर आम आदमी पार्टी पूरे भारत में किसानों की आवाज बुलंद करते रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *