Breaking News

मुंबई सेशंस कोर्ट में राणा दंपत्ति पर सुनवाई आज, नवनीत राणा को मिलेगी बेल या कायम रहेगी जेल

महाराष्ट्र के अमरावती से सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) और उनके विधायक पति रवि राणा की जमानत याचिका (Bail Application) पर आज मुंबई सत्र न्यायालय (Mumbai Sessions Court) में सुनवाई हो रही है. राणा दंपत्ति पर राजद्रोह का केस लगाया गया है. सरकारी वकील और मुंबई पुलिस राणा दंपत्ति की जमानत का विरोध कर रहे हैं. उनका कहना है कि रवि राणा के खिलाफ 17 केस दर्ज हैं और नवनीत राणा के खिलाफ 6 केस दर्ज हैं. अगर ये बाहर आए तो फिर कानून व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश करेंगे. गुरुवार को कोर्ट ने राणा दंपत्ति की यह मांग भी ठुकरा दी कि उन्हें घर का खाना खाने की इजाजत दी जाए. Also Read – देश में बढ़ रही कोरोना की रफ्तार, पिछले 24 घंटे में 3,688 नए मरीज मिले राणा दंपत्ति ने कोर्ट से गुहार लगाई है कि उन्हें सिर्फ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निवास ‘मातोश्री’ के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ना था. मुंबई पुलिस ने कोर्ट से कहा है कि जिस भोलेपन से राणा दंपत्ति यह कह रहे हैं, मामला उतना सीधा-सरल नहीं है. राणा दंपत्ति ठाकरे सरकार को अस्थिर करना चाहते थे इसलिए वे कानून व्यवस्था की स्थिति बिगाड़ना चाहते थे. पुलिस का दावा है कि राणा दंपत्ति ने महा विकास आघाडी सरकार के अस्तित्व को चुनौती देने की साजिश रची थी. सत्ता से दूर बीजेपी और सीएम उद्धव ठाकरे के अन्य विरोधी जान बूझ कर सरकार विरोधी माहौल तैयार कर आघाडी सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश में लगे हैं. यह दावा पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी राणा दंपत्ति की जमानत याचिका का विरोध करते हुए अपने लिखित अर्जी में किया.

राणा दंपत्ति ने कोर्ट से गुहार लगाई है कि उन्हें सिर्फ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निवास ‘मातोश्री’ के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ना था. मुंबई पुलिस ने कोर्ट से कहा है कि जिस भोलेपन से राणा दंपत्ति यह कह रहे हैं, मामला उतना सीधा-सरल नहीं है. राणा दंपत्ति ठाकरे सरकार को अस्थिर करना चाहते थे इसलिए वे कानून व्यवस्था की स्थिति बिगाड़ना चाहते थे. पुलिस का दावा है कि राणा दंपत्ति ने महा विकास आघाडी सरकार के अस्तित्व को चुनौती देने की साजिश रची थी. सत्ता से दूर बीजेपी और सीएम उद्धव ठाकरे के अन्य विरोधी जान बूझ कर सरकार विरोधी माहौल तैयार कर आघाडी सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश में लगे हैं. यह दावा पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी राणा दंपत्ति की जमानत याचिका का विरोध करते हुए अपने लिखित अर्जी में किया.

मुंबई पुलिस कर रही जमानत का विरोध, राणा दंपत्ति पर है राजद्रोह का गंभीर आरोप राणा दंपत्ति की जमानत याचिका पर शुक्रवार को न्यायाधीश राहुल रोकडे के सामने सुनवाई नहीं हो पाई. जज ने यह साफ किया कि पहले से ही कई अहम सुनवाई होनी है. ऐसे में काम की व्यस्तता की वजह से शुक्रवार को सुनवाई नहीं हो पाएगी. इसलिए शनिवार को ही सुनवाई संभव है. इस बीच कोर्ट में मुंबई पुलिस ने जमानत याचिका पर अपना जवाब कोर्ट को पेश कर दिया. मुंबई पुलिस की ओर से सरकारी वकील प्रदीप घरत ने यह एफिडेविट पेश किया. मुख्यमंत्री के निवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ने की घोषणा कर के राणा दंपत्ति ने कानून व्यवस्था की समस्या खड़ी की और राज्य प्रशासन को चुनौती दी. यह आरोप करते हुए आईपीसी की धारा 124-A के तहत राणा दंपत्ति पर राजद्रोह का केस दर्ज किया गया है. इस वक्त नवनीत राणा मुंबई की भायखला जेल और रवि राणा नवी मुंबई की तलोजा जेल में हैं.

मुंबई पुलिस कर रही जमानत का विरोध, राणा दंपत्ति पर है राजद्रोह का गंभीर आरोप

राणा दंपत्ति की जमानत याचिका पर शुक्रवार को न्यायाधीश राहुल रोकडे के सामने सुनवाई नहीं हो पाई. जज ने यह साफ किया कि पहले से ही कई अहम सुनवाई होनी है. ऐसे में काम की व्यस्तता की वजह से शुक्रवार को सुनवाई नहीं हो पाएगी. इसलिए शनिवार को ही सुनवाई संभव है. इस बीच कोर्ट में मुंबई पुलिस ने जमानत याचिका पर अपना जवाब कोर्ट को पेश कर दिया. मुंबई पुलिस की ओर से सरकारी वकील प्रदीप घरत ने यह एफिडेविट पेश किया. मुख्यमंत्री के निवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ने की घोषणा कर के राणा दंपत्ति ने कानून व्यवस्था की समस्या खड़ी की और राज्य प्रशासन को चुनौती दी. यह आरोप करते हुए आईपीसी की धारा 124-A के तहत राणा दंपत्ति पर राजद्रोह का केस दर्ज किया गया है. इस वक्त नवनीत राणा मुंबई की भायखला जेल और रवि राणा नवी मुंबई की तलोजा जेल में हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *