Breaking News

माह के पहले दिन वाहन चालकों को झटका! पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने लगाई छलांग, जानें आज के दाम

वाहन चालकों को लगातार दूसरे दिन बड़ा झटका लगा है। तेल कंपनियों ने मंगलवार को भी तेल की कीमतों में इजाफा कर दिया है। ऐसे में अब कई शहरों में डीजल के दाम (Diesel Price) भी जल्द ही सौ रूपये प्रति लीटर का आंकड़ा पार करने वाला है, जबकि पेट्रोल (Petrol Price) पहले ही कई शहरों में सौ रुपये लीटर के हिसाब से बिकने लगा है। राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल इन दिनों 105 रूपये प्रति लीटर के हिसाब से बिक रहा है, जबकि दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 94.49 रुपये प्रति लीटर दर्ज की गयी है।

कोरोना काल से पेट्रोल-डीजल की कीमतों (Petrol Diesel Price) में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। तेल कंपनियों ने एक बार फिर तेल के दामों में बढ़ोतरी कर दी है। दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमतों में 27 पैसे प्रति लीटर और डीजल में 23 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया है। इस बढ़ोतरी के साथ ही दिल्ली में ग्राहकों को एक लीटर पेट्रोल के लिए 94.49 रुपये चुकाने होंगे जबकि डीजल के 85.38 रुपये प्रति लीटर की कीमत अदा करनी होगी। बता दें कि डीजल के दामों में बीते 18 दिनों में 4.60 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बढ़ोतरी हो चुकी है। पिछले दो दिनों यह 49 पैसे महंगा हुआ है।

शहर का नाम    पेट्रोल          डीजल 

श्रीगंगानगर   105.52         98.32
इंदौर          102.68         93.98
भोपाल        102.61         93.89
जयपुर        101.02         94.19
मुंबई          100.72         92.69
पुणे           100.34         90.9
पटना         96.64          90.66
चेन्नई         95.99         90.12
कोलकाता     94.5           88.23
दिल्ली         94.49         85.38
लखनऊ       91.83         85.77

हर दिन तय होता है दाम 

गौरतलब है कि तेल कंपनियां हर दिन सुबह छह बजे पेट्रोल डीजल की कीमतों में बदलाव करती हैं। कंपनियां दाम निर्धारित करते समय एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ती हैं जिसके बाद पेट्रोल डीजल का दाम लगभग दोगुना हो जाता है। यदि केंद्र सरकार पेट्रोल डीजल पर से एक्साइज ड्यूटी और राज्य सरकारों का वैट हटा दें तो डीजल और पेट्रोल का रेट लगभग 27 रुपये लीटर ही रह जायेगा । लेकिन चाहे दोनों ही सरकारें टैक्स नहीं हटा सकती क्योंकि राजस्व का एक बड़ा हिस्सा डीजल और पेट्रोल से ही आता है। इन पैसों को विकास कार्यों में खर्च किया जाता है। दरअसल विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत के आधार पर हर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *