Breaking News

मानसून के इंतजार में फिर तपने को तैयार देश, इन राज्यों में भीषण गर्मी के आसार

मानसून की दस्तक की खबरों के बीच देश में एक बार फिर भीषण गर्मी की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, 19 मई से उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में लू का नया दौर शुरू हो रहा है। वहीं, खबर है कि दक्षिण पश्चिम मानसून दक्षिण बंगाल की खाड़ी, अंडमान सागर और अंडमान द्वीप समूह और बंगाल की खाड़ी के मध्य पूर्व के कुछ हिस्सों में अगले दो दिनों के दौरान आगे बढ़ सकता है। इधर, तेज बारिश से जूझ रहे केरल को तीन दिन और राहत मिलने के आसार नहीं है।

पश्चिमोत्तर क्षेत्र में गर्मी तथा लू से राहत का अनुमान नहीं है, लेकिन 19 मई से पश्चिमी वक्षिोभ के प्रभाव के चलते कहीं-कहीं अंधड़ गर्जन के साथ हल्की बारिश या बूंदाबांदी के आसार हैं। मौसम केन्द्र के अनुसार क्षेत्र में अगले 24 घंटे गर्मी से राहत के आसार नहीं हैं। उसके बाद 20 से 21 मई के बीच क्षेत्र में तेज हवा, गरज-चमक,अंधड़ के साथ हल्की बारिश के आसार हैं।

फिर तपेगी दिल्ली
दिल्लीवासियों को फिलहाल गर्मी से राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं और जहां एक ओर दक्षिण पश्चिम मानसून के करीब एक माह बाद 25 से 30 जून के बीच राष्ट्रीय राजधानी में दस्तक देने का अनुमान है, वहीं 19 मई से लू का प्रकोप तेज होने के आसार जताए जा रहे हैं। मौसम विभाग ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

विभाग के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मानसून के बंगाल की खाड़ी के और अधिक हिस्सों की ओर आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। यह अगले दो दिन में पूरे अंडमान सागर एवं अंडमान द्वीप समूह और पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में पहुंच जाएगा। मौसम विभाग की बुलेटिन में कहा गया है, निचले क्षोभमंडल स्तरों में बंगाल की खाड़ी से अंडमान सागर तक भूमध्यरेखा के दोनों ओर शक्तिशाली  प्रवाह के कारण अगले पांच दिन के दौरान अंडमान- निकोबार द्वीप समूह में भारी बारिश का अनुमान है।

विभाग ने बताया कि अगले तीन दिन के दौरान अंडमान सागर, दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी और इससे सटे मध्य बंगाल की खाड़ी में हवा की गति 40-50 किमी प्रति घंटे से 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने का अनुमान है। अगले तीन दिन तक केरल, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में भारी से बहुत भारी वर्षा की भविष्यवाणी की गई है।

मौसम विभाग ने बताया कि एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ 19 मई से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित करेगा। उसने कहा, जम्मू-कश्मीर में 19-21 मई के दौरान और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 20 और 21 मई को अलग-अलग स्थानों पर गरज / चमक / आंधी और ओलावृष्टि के साथ काफी हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। विभाग ने बताया कि 19 मई से उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में गर्म हवाओं और लू का प्रकोप बढ़ने के आसार हैं।

कहां हैं लू के आसार
मौसम विभाग के अनुसार, दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश में 18-19 मई, पश्चिम राजस्थान में हीटवेव की स्थिति तैयार हो सकती है।

IMD ने बुधवार के लिए केरल के 7 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इनमें त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड , कन्नूर और कसारगोड का नाम शामिल है। केरल में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है जिसने कुछ स्थानों पर सामान्य जनजीवन प्रभावित किया है।

इस माह के आखिर तक दक्षिणपश्चिम मानसून के शुरू होने के मद्देनजर भारी वर्षा पर विचार करते हुए राज्य सरकार ने जिलाधिकारियों को बैठक बुलाई थी और किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के निर्देश दिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *