Breaking News

मानव जीवन पर मंडराया खतरा: अमेजन जंगल को लेकर आई बड़ी जानकारी, वैज्ञानिकों ने जताई चिंता

अमेजन का जंगल (Amazon Rainforest) दुनिया का सबसे बड़ा रेन फॉरेस्ट (वर्षावन) है. दुनिया की 20% ऑक्सीजन (Oxygen) यहीं से आती है. इसे ‘पृथ्वी का फेफड़ा’ (Lung Of Earth) भी कहा जाता है. यह जंगल 2.1 मिलियन वर्गमील में फैला हुआ है. दक्षिणी अमेरिका से ब्राजील (Brazil) तक फैले इस जंगल के बारे में कहा जाता है कि अगर यह कोई देश होता तो दुनिया का 9वां सबसे बड़ा देश होता. इस जंगल को लेकर वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह एक समय बाद पूरी तरह शुष्क मैदान बन जाएगा. यहां की हरियाली एक मैदान में बदल जाएगी.

पीयर-रिव्यू जर्नल में प्रकाशित नए पेपर में वैज्ञानिक रॉबर्ट वॉकर की भविष्यवाणियों के अनुसार, दुनिया का सबसे बड़ा उष्णकटिबंधीय वर्षावन (Tropical Rainforest) अमेजन रेनफॉरेस्ट (Amazon Rainforest) जलवायु परिवर्तन से क्षेत्र में होने वाले वनों की कटाई और सूखे के खतरनाक स्तर के कारण 2064 तक गायब हो जाएगा. नई रिपोर्ट के मुताबिक, वॉकर ने निष्कर्ष (Conclusion) तक पहुंचने के लिए अमेजन रेनफॉरेस्ट पर हाल के शोध की समीक्षा की थी. वॉकर ने रिपोर्ट में लिखा, एक जंगल को सूखे से उबरने के लिए 4 साल से ज्यादा समय की जरूरत होती है.

मनुष्यों ने 2020 के पहले चार महीनों के दौरान ब्राजील (Brazil) में 1,202 वर्ग किमी (464 वर्ग मील) जंगल को नष्ट कर दिया था. अमेजन के जंगल को एक तरफ दुनिया का सबसे खतरनाक जंगल (Most Dangerous Forest) कहा जाता है तो दूसरी तरफ सबसे सुंदर भी (Most Beautiful Rainforest). एक तरफ इसे खतरनाक जानवरों के लिए जाना जाता है तो दूसरी तरफ इससे मिलने वाले साफ पानी के लिए. माना जाता है कि यहां जैव-विविधताओं (Biodiversity) का भंडार है. वैज्ञानिक इसके हानि पहुंचने से काफी चिंता में है.

वैज्ञानिक कार्लोस नोबर और थॉमस ई लोवेजाय अपनी रिसर्च में कहते हैं कि जिस तरीके से अमेजन के जंगलों को काटा जा रहा है, वह दुनिया के सबसे बड़े जंगल से सबसे बड़े सावन क्षेत्र में बदल सकता है. बता दें कि सावन क्षेत्र में छोटे-छोटे पौधों के साथ घास का जंगल भी होता है. इससे क्षेत्र की इकोलॉजी (Ecology) भी बदल सकती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेजन रेनफॉरेस्ट के पास ऐसी क्षमता है, जिससे वह जितनी बारिश पाता है, उसका आधा प्रोड्यूस कर देता है. यह चक्र एक नाजुक संतुलन है, जिसके टूटने पर गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *