Breaking News

मल्लिका-ए-तरन्नुम नूरजहां, की आवाज के दीवाने थे हिंदुस्तान और पाकिस्तान

दिवंगत अभिनेत्री व गायिका नूरजहां (noorjahan) बेशक अब हमारे बीच नहीं हैं लेकिन वह हिंदी सिनेमा (hindi cinema) की सबसे मजबूत महिला (strong woman) कलाकारों में से एक थीं। वह जितनी अच्छी अभिनेत्री थीं, उतनी ही अच्छी गायिका भी थीं।

21 सितंबर,1926 को जन्मी नूरजहां का असली नाम अल्लाह राखी वसाई था। नूरजहां का जन्म पंजाब के कसूर में हुआ था। उस समय भारत पाकिस्तान का बंटवारा नहीं हुआ था। बचपन से ही नूरजहां का झुकाव संगीत की तरफ था और इसी वजह से छोटी उम्र में ही उन्होंने कला की दुनिया में कदम रख दिया। इसके लिए नूरजहां कोलकाता आ गईं और यहां आकर ही उनका नाम अल्लाह राखी वसाई से ‘नूरजहां’ हो गया। हालांकि भारत -पाकिस्तान बंटवारे के बाद नूरजहां पाकिस्तान चली गईं। उस वक्त वह भारत की बहुत मशहूर गायिका और अभिनेत्री थीं। ‘दोस्त’, ‘जीनत’, ‘बड़ी मां’, ‘जुगनू’, ‘ख़ानदान’ जैसी फिल्मों से उन्होंने अपनी खास पहचान बनाई।

पाकिस्तान जाने के बाद भी नूरजहां ने अपनी कला का जलवा बरकरार रखा और बुंलदियों के आसमान को छुआ।नूरजहां की निजी जिंदगी की बात करें तो उनकी दो शादियां हुई थीं। उनकी पहली शादी 1942 में सौकत हुसैन रिजवी के साथ हुई थी। साल 1953 में नूरजहां और सौकत का तलाक हो गया। इसके बाद नूरजहां ने 1959 में एजाज दुरानी से शादी की लेकिन साल 1971 में तलाक के साथ ये रिश्ता भी खत्म हो गया।

 

नूरजहां ने फिल्मों में अभिनय से दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया लेकिन साल 1963 में उन्होंने अभिनय की दुनिया को अलविदा कह दिया था। कहा जाता है कि उन्होंने इंडस्ट्री में रहते हुए 10 हजार से भी ज्यादा गाने गाए थे। नूरजहां का फ़िल्मी करियर जहां ऊंचाइयों पर रहा वहीं उनकी निजी जिंदगी उतार चढ़ाव भरी रही। लंबे समय तक अपनी गायिकी का जादू बिखेरने वाली नूरजहां का दिल का दौरा पड़ने से 23 दिसंबर, 2000 को निधन हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *