Breaking News

भारी बारिश से अब तक 153 की मौत, गुजरात-महाराष्ट्र में पटरी से उतरा जनजीवन

गुजरात (Gujarat) और महाराष्ट्र (Maharashtra) समेत देश के 22 से अधिक राज्यों में बारिश और बाढ़ (rain and flood) के चलते सामान्य जनजीवन पटरी से उतर गया है। महाराष्ट्र और गुजरात में भारी बारिश (Heavy Rain) ने तबाही मचा रखी है। गुजरात के कई हिस्सों में पिछले चार दिनों से बाढ़ जैसे हालात (flood like situation) हैं। पिछले 24 घंटे में यहां 6 लोगों की मौत हो चुकी है, अब तक 69 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, महाराष्ट्र में भारी बारिश के चलते एक जून से अब तक 84 लोगों की मौत हो चुकी है और 60 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं। गुजरात, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में मौसम विभाग ने आज भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

महाराष्ट्र में पानी के तेज बहाव में बही कार कई लोगों की मौत
महाराष्ट्र की साउंर तहसील के नंदा गोमुख में पानी के तेज बहाव के कारण कार के बह जाने से तीन लोगों की मौत हो गई और तीन लापता हैं। सभी यात्री मध्यप्रदेश के निवासी हैं। वहीं इस घटना पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि प्रशासन की ओर से लापता लोगों का पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं और एनडीआरएफ से भी मदद ली जा रही है। मैं इस संबंध में नागपुर डीसी के संपर्क में हूं। जान गंवाने वालों के परिजनों को चार लाख रुपये दिए जाएंगे।

राजकोट में भी बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। यहां एक अस्पताल के बेसमेंट में पानी घुस गया, जिसके चलते मरीजों को स्थानांतरित करना पड़ा। गुजरात के राजस्व मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा कि राज्य के भरूच, छोटा उदेपुर, नर्मदा, सूरत, तापी, डांग, नवसारी और वलसाड में रेड अलर्ट घोषित किया गया है। सीएम भूपेंद्र पटेल ने सोमवार को बाढ़ प्रभावित नवसारी का जायजा लिया और पीड़ितों से मुलाकात की।

मुंबई में हाई टाइड का अलर्ट
मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के सात जिलों में रेड अलर्ट और छह जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। तेज बारिश के बाद मुंबई में हाई टाइड का अलर्ट जारी किया गया। यहां अब तक 800 से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। वहीं, मूसलाधार बारिश से आई बाढ़ में 180 जानवरों की भी मौत हुई है। गुजरात, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में मौसम विभाग ने आज भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। छत्तीसगढ़ में भारी बारिश के बाद बाढ़ की समस्या उत्पन्न हो गई है। बाढ़ के चलते राज्य का आंध्र प्रदेश से संपर्क टूट गया है।

आंध्र प्रदेश की गोदावरी नदी में जलस्तर बढ़ा, चेतावनी जारी
आंध्र प्रदेश में गोदावरी नदी में मंगलवार को सुबह जलस्तर बढ़कर 12.10 लाख क्यूसेक पर पहुंच गया। इसके चलते बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) के प्रबंधक निदेशक बीआर आंबेडकर ने चेतावनी जारी कर नदी के किनारे बसी बस्तियों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने और बाढ़ के खतरे के मद्देनजर ऐहतियाती कदम उठाने को कहा है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) के बलों को संवेदनशील इलाकों में तैनात किया गया है।

कर्नाटक में चार लोगों की मौत
कर्नाटक में मंगलवार को भी भारी बारिश के कारण उत्तर कन्नड़ जिले के मरकवाड़ा गांव में दीवार ढहने से एक महिला और उसकी बेटी की मौत हो गई। तटीय और उत्तरी कर्नाटक क्षेत्र से भूस्खलन, स्कूल की इमारत और घर ढहने की कई घटनाएं सामने आई हैं। इस बीच, अधिकारियों ने दक्षिण कन्नड़ जिले के पुत्तूर के निकट कनियुर में मंगलवार को एक युवक का शव निकाला। दूसरे शव की तलाश जारी है। भारी बारिश के बाद उत्तरी कर्नाटक में कृष्णा नदी और दक्षिण कर्नाटक में कावेरी के किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा गया है।

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा, ऐसी घड़ी में जब राज्य का अधिकांश हिस्सा जलमग्न हैं, सरकार लोगों के साथ खड़ी है। मुख्यमंत्री बोम्मई ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को राज्य में बचाव और राहत कार्यो के लिए 739 करोड़ रुपये का फंड मिला है। राहत कार्य शुरू करने के लिए धन की कोई कमी नहीं है।

राजस्थान के माउंट आबू और प्रतापगढ़ में भारी बारिश
राजस्थान के पूर्वी हिस्से के कई इलाके में मंगलवार को भारी बारिश हुई। माउंट आबू और प्रतापगढ़ में एक दिन में रिकार्ड 8 सेमी बारिश दर्ज की गई। कोटा के संगोडमें 7सेमी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार अजमेर, टाटगढ़, बांसवाड़ा में 6 सेमी बारिश दर्ज की गई। विभाग ने बांसवाड़ा, सिरोही, राजसमंद, प्रतापगढ़, झालावाड़, बाड़मेर, पाली, जैसलमेर, जोधपुर में भारी बारिश का अनुमान जताया है।

ओडिशा में भी भारी बारिश
ओडिशा में भी लगातार बारिश से हालात बिगड़ रहे हैं। भारी बारिश के कारण जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। नदिया उफान पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *