Breaking News

भारत में सांप्रदायिक अशांति फैलाने की तैयारी में पाकिस्तान और कनाडा में बैठे आतंकी रिंदा और लांडा

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के समर्थन से पाकिस्तान में बैठे खालिस्तान आतंकी हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा और कनाडा में बैठा लखबीर सिंह उर्फ लांडा भारत में बड़े पैमाने पर सांप्रदायिक आधार पर अशांति फैलाना चाहते हैं। ये पाकिस्तान से ड्रोन के भारत में चीन निर्मित हैंडग्रेनेड, एके-47 व एमपी-5 जैसे हथियार भेज रहे हैं। ये खुलासा लांडा व रिंदा के गिरफ्तार चार शार्पशूटर ने किया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इन शार्प शूटरों को दिल्ली व पंजाब से गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से पांच चीनी हैंडग्रेनेड, एक एके-47, एक-एमपी-5, एक पंप एक्शन गन व नौ सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल बरामद की गई हैं।

पता चला है कि रिंदा व लांडा भारत में एक गैंगस्टर के एक गिरोह को नहीं बल्कि सभी गिरोह को हथियार भेज रहे हैं। स्पेशल सेल डीसीपी मनीषी चंद्रा के अनुसार, एसीपी राहुल विक्रम की देखरेख में इंस्पेक्टर विक्रम दहिया, इंस्पेक्टर निशांत व दलीप की टीम गैंगस्टर की तलाश कर रही थी। इंस्पेक्टर विक्रम दहिया की टीम ने सबसे पहले वीपीओ हेओन, तहसील बंगा, जिला एसबीएस नगर पंजाब निवासी शार्पशूटर लखविंदर उर्फ मतरू को सराय कालेखां बस अड्डे से 24 सितंबर को गिरफ्तार किया था। उससे पांच पिस्टल बरामद की गईं। इससे पूछताछ के बाद कश्मीरी गेट बस अड्डे से दूसरे शार्पशूटर मोहल्ला शेकूपुरा, जंडिय़ाला, गुरू अमृतसर, पंजाब निवासी गुरजीत उर्फ गुरी को 13 अक्तूबर को गिरफ्तार कर लिया।

इसने पूछताछ में बताया कि हरमेंदर और सुखदेव उर्फ सुखा पाकिस्तान बॉर्डर से रिंदा व लांडा के लिए हथियार ला रहे हैं। इंस्पेक्टर विक्रम दहिया की टीम ने पंजाब में दबिश देकर गांव मस्तेवाला, जिला मोगा पंजाब निवासी हरमेंदर सिंह और शेख बंगा तहसील सुल्तानपुर लोधी जिला कपूरथला, पंजाब निवासी सुखदेख उर्फ सुखा को गिरफ्तार कर लिया। इनसे पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस के सहयोग से तीन बदमाशों को अमृतसर, पंजाब से गिरफ्तार किया था। इन बदमाशों के पास से एक-47व तीन पिस्टल बरामद की गई थी। आरोपी सुखदेख व हरमेंद्र ने बताया कि उन्होंने दीपक उर्फ टीनू को भी हैंडग्रेनेड व हथियार दिए थे। स्पेशल सेल ने दीपक को राजस्थान से गिरफ्तार किया था। उसके कब्जे से पांच हैंड ग्रेनेड व पिस्टल बरामद की गई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *