Breaking News

भाई ने बहन की शादी में दिया ये अनोखा तोहफा, लोग कर रहें जमकर तारीफ

शादी में दहेज देना आम बात है। दहेज में लोग बर्तन, कपड़ा, सोना-चांदी और घर-गिर्सती का समान देते है।  लेकिन क्या आपने किसी को दहेज में पेड़-पौधे देते हुए देखा है। जी हां आपको भी सुनकर हैरानी हो रही होगी लेकिन ये सच है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है राजस्थान के बाड़मेर से जहां एक भाई ने अपनी बहन की शादी में दहेज में पौधे भेंट किए। वहीं उनका ये अनोखा तोहफा पूरे राजस्थान में चर्चा का विषय बन गया है। हर कोई उनके इस काम की तारीफ कर रहा है।

दरहसल, पर्यावरण प्रेमी नरपत सिंह राजपुरोहित (Narpat Singh Rajpurohit) को हर कोई जानता है वो हमेशा पर्यावरण (Environment) को लेकर अनोखा करते आए है। वहीं एक बार और ऐसा ही कुछ करके वो लोगों के बीच मशहूर हो गए है।

151 पौधे किए भेंट

बता दें कि पर्यावरण प्रेमी नरपत सिंह राजपुरोहित ने अपनी चचेरी बहन हंसा कवर को दहेज के रूप में रुपए या सामान की बजाय 151 पौधे दिए हैं, साथ ही नवविवाहित जोड़े अंसा कवर मोहन सिंह से अपने घर पर पौधरोपण करवा कर नरपत सिंह खुद ने उन पौधों को बड़ा होने तक उनकी देखरेख करने का संकल्प लिया। साथ ही शादी में आये सभी बारातियों को एक-एक पौधा भेंट कर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प दिलाया। जो कि अपने आप में बहुत अनोखी बात है। वो अक्सर लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक करते रहते है।

 

पहले भी कर चुके है भेंट

पर्यावरण प्रेमी नरपत सिंह बताते हैं कि बारातियों को छायादार व औषधीय पौधे भेंट किए गए हैं, जो उनके गांव बालेरा में लगाएंगे। जिस तरीके से कोरोना काल में ऑक्सीजन के लिए लोग भटक रहे थे, उसी को मद्दे नजर रखते हुए बारात में औषधि के पौधे भेंट किए गए. इससे पहले भी जब बहन की शादी हुई थी तो शादी में आए बाराती हो को एक-एक पौधा देकर उनको यह संकल्प दिलाया था कि इस एक पौधे का पालन पोषण वह करेंगे।

पहले भी बना चुके है रिकॉर्ड

इससे पहले भी पर्यावरण को बचाने के लिए नरपत सिंह बहुत कुछ कर चुके है। उन्होंने अब तक कई साइकिल यात्राएं की हैं. साथ ही विश्व की सबसे लंबी साइकिल यात्रा का गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी इन्ही के नाम दर्ज है. बता दें कि इन्होंने भारत के 14 राज्य और 4 केंद्र शासित प्रदेशों में 21221 किलोमीटर यात्रा कर यह रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करवाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *