Breaking News

भतीजे ने छूए चाचा के पैर तो सैफई में मना जश्न, अखिलेश और शिवपाल में गठबंधन पर बनी सहमति

विधानसभा चुनाव से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को प्रसपा अध्यक्ष और अपने चाचा शिवपाल यादव से मुलाकात की। इस मुलाकात में छह साल से बनी दूरी मिट गयी। इस दौरान चाचा-भतीजा में दोनों पार्टियों के बीच विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन पर सहमति बन गई है। गठबंधन की जानकारी खुद अखिलेश यादव ने ट्वीट कर दी। अखिलेश यादव ने मुलाकात की फोटो शेयर करते हुए लिखा कि प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी से मुलाकात हुई और गठबंधन की बात तय हुई। क्षेत्रीय दलों को साथ लेने की नीति सपा को निरंतर मजबूत कर रही है और सपा और अन्य सहयोगियों को ऐतिहासिक जीत की ओर ले जा रही है।

अखिलेश ने छुए शिवपाल यादव के पैर

अखिलेश यादव अकेले चाचा शिवपाल के घर पहुंचे। अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव के पांव छुए तो भावुक हुए शिवपाल यादव ने उन्हें गले लगाया। अखिलेश यादव की मुलाकात पूरे परिवार के साथ हुई। शिवपाल यादव और उनकी पत्नी यानि अखिलेश यादव की चाची भी मौजूद रहीं। इस दौरान गठबंधन पर भी बात तय हो गई।
2018 में बनाई थी नई पार्टी शिवपाल यादव मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई हैं। उनकी गिनती सपा के बड़े नेताओं में थी। 2007 में मायावती के शासन में शिवपाल यादव विपक्ष के नेता भी रहे हैं। हालांकि, 2017 विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव और शिवपाल यादव में दूरी बढ़ गई थी। नाराज शिवपाल यादव ने नई पार्टी बनाने का ऐलान किया था। अक्टूबर 2018 में शिवपाल यादव ने प्रगतिशील समाजवादी मोर्चा बनाने का ऐलान किया। शिवपाल यादव ने 2019 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में अपनी पार्टी से प्रत्याशी भी उतारे थे। इसके चलते सपा को कई सीटों पर नुकसान भी उठाना पड़ा था।

इटावा के सैफई में पांच साल के लंबे अंतराल के बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के पैतृक गांव सैफई में समाजवादी परिवार के एक होने का जश्न मनाया गया। लखनऊ में चाचा शिवपाल की भतीजे अखिलेश की मुलाकात और गठबंधन की सूचना आते ही सैफई में दीपावली जैसा उत्सव मनाया गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर आतिशबाजी की और लोग एक दूसरे को मिठाइयां खिलाकर बधाई दी। हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर इसका ऐलान नहीं किया गया है ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि एक सप्ताह के भीतर गठबंधन का ऐलान हो सकता है।

अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह यादव की 45 मिनट की मुलाकात में सीटों पर भी फैसला हो गया है। बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को चुनाव में 5 से 7 सीट देने को तैयार हैं। इस मुद्दे पर अखिलेश और शिवपाल के बीच बंद कमरे में लंबी बात हुई। अखिलेश ने यह भी संकेत दिया है कि शिवपाल सिंह यादव के लोगों को और एडजस्ट किया जाएगा। बताया जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव के खेमे के लोग सपा के सिंबल पर भी लड़ सकते हैं। इस 45 मिनट की मुलाकात में दोनों लोगों के हाव-भाव प्रसन्नता वाले थे। इस मौके पर अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल सिंह यादव के पैर छूकर आशीर्वाद भी लिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *