Breaking News

भगत सिंह को ‘मार्क्सवादी’ कहना जावेद पर पड़ा भारी, कंगना समेत कई लोगों ने दिया करारा जवाब

इस हफ्ते की शुरूआत में पड़ी देश के शहीद भगत सिंह (martyr Bhagat Singh) की 113वीं जयंती के खास मौके पर लोगों ने इसे अपने अंदाज में मनाया. सोमवार को लोग जहां उनकी पुरानी बातों, इरादों और कारनामों को याद कर उनसे प्रेरित हो रहे थे, और उनकी शहादत पर देश के नागरिकों का सीना गर्व से चौड़ा हो रहा था तो वहीं दूसरी तरफ कुछ विवादित ट्वीट से सोशल मीडिया पर हंगामा खड़ा हो गया. अक्सर अपने बयानों और ट्वीट्स को लेकर विवादों में रहने वाले जावेद अख्तर (Javed Akhtar tweet on Bhagat Singh) ने भगत सिंह को लेकर कुछ ऐसा ट्वीट कर दिया जिसके बाद तो कंगना रनौत (Kangna ranaut) ने उन्हें आड़े हाथ लेते हुए जमकर खरी-खोटी सुनाई. ये मामला धीरे-धीरे जुबानी जंग में तब्दील हो गया.

दरअसल सोमवार को भगत सिंह की जयंती पर जावेद अख्तर ने उन्हें मार्क्सवादी करार दे दिया. जिसके बाद कंगना से चुप नहीं रहा गया और उन्होंने इसका अपने कड़क अंदाज में जवाब दिया. बता दें कि सोमवार को सोशल मीडिया पर देश के नागरिक भगत सिंह को याद कर उनकी वो बातें साझा कर रहे थे, जो उन्होंने पत्र के जरिए और जेल में कहे थे. ऐसे में गीतकार जावेद अख्तर ने भी लोगों के इस खास अंदाज को देखते हुए भगत सिंह पर एक ट्वीट कर दिया.

 

हैरानी वाली बात तो ये है कि देश के महान क्रांतिकारी शहीद भगत सिंह को उन्होंने मार्क्सवादी का नाम दे दिया. जावेद अख्तर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “कई लोग सिर्फ इस बात का सामना ही नहीं करने से इनकार करते हैं, यहां तक कि दूसरों से भी ये बात छिपाते हैं कि शहीद भगत सिंह एक मार्क्सवादी थे और उन्होंने एक लेख भी लिखा था कि मैं नास्तिक क्यों हूं. इस बात से कोई भी अंदाजा लगा सकता है कि, ऐसे लोग कौन हैं. मैं अभी भी हैरानी में हूं कि यदि वो आज लोगों के बीच होते तो उन्हें क्या कहा जाता.”

 

कंगना रनौत ने किया पलटवार
जावेद अख्तर ने जैसे ही ये ट्वीट किया वैसे ही कंगना रनौत गुस्से में उन्हें करारा जवाब भी दे दिया. उन्होंने इस ट्वीट पर अपना पक्ष रखते हुए लिखा कि, “मै तो इस बात से भी आश्चर्य हूं कि यदि भगत सिंह जिंदा होते तो क्या वो एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया से अपने ही लोगों की चुनी गई सरकार के खिलाफ विरोध करने देते या फिर उन लोगों का सपोर्ट करते? क्या उन्होंने भारत माता को धर्म के आधार पर टुकड़ों में बंटते देखा था? क्या वो अब भी नास्तिक मानेंगे या वो अपना बसंती चोला पहनेंगे?”

कंगना रनौत के इस जवाब पर काफी लोगों ने उनका साथ दिया और एक्ट्रेस के बात से संतुष्टि भी जताई. इसके साथ कुछ लोग जावेद अख्तर का भी बचाव करने उतरे और उन्होंने गीतकार का सपोर्ट किया. इस बहस में एक्ट्रेस स्वरा ने जावेद अख्तर का समर्थन करते हुए लिखा कि “यह दुखद सच है.” इसके साथ ही फिल्ममेकर प्रितीश नंदी ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि, “अर्बन नक्सल, आज यही शब्द भगत सिंह के लिए प्रयोग करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *