Breaking News

बेटे ने काटा, मां ने की मदद… रिटायर्ड पिता को मारकर प्लास्टिक में लपेट दिए शव के टुकड़े

देश की राजधानी दिल्ली इस समय श्रद्धा को लेकर सुर्खियों में बनी हुई है. श्रद्धा के लिव-इन पार्टनर आफताब ने उसकी हत्या कर शव को 35 टुकड़ों में कर उन्हे 18 दिन तक फ्रिज में रखा, और छतरपुर के जंगलों में जाकर बारी-बारी से वो सारे टुकड़े फेंक दिए. पुलिस की इस मामले में अभी जांच भी पूरी नहीं हो सकी है कि ऐसा ही एक मामला पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में सामने आया है, जहां एक सेवानिवृत्त भारतीय नौसेना के सैनिक 55 वर्षीय उज्ज्वल चक्रवर्ती का शव मिला है.

बरूईपुर पुलिस के मुताबिक गुरुवार देर रात मोहल्ले के एक तालाब से प्लास्टिक की बोरी में लिपटा मृतक का शव बरामद किया गया था. शव के सभी अंग गायब थे. जांच के बाद शव शिनाख्त हो सकी. पुलिस ने इस हत्या मामले में मृतक की पत्नी और उसके बेटे को गिरफ्तार किया है.

गुस्से में दबाया पिता का गला

दरअसल तालाब से पूर्व सैनिक का शव मिलने के बाद शुक्रवार दोपहर पुलिस ने उसकी पत्नी और बेटे से इस बाबत पूछताछ की. जिसके बाद शनिवार शाम को दोनों ने पूछताछ में अपना जुर्म कबूल कर लिया. पुलिस ने बताया कि आरोपी बेटे जॉय चक्रवर्ती ने लड़ाई के दौरान गुस्सा आने पर अपने पिता का गला घोंट दिया, जिस कारण उनकी मौत हो गई. उसके मरने के बाद मां-बेटे ने मिलकर उसके शव को प्लास्टिक की बोरी में लपेटकर ठिकाने लगाने की योजना बनाई.

बेटे ने पिता के अंगो को काटा

पुलिस ने बताया आरोपी को मृतक के पूरे शरीर को प्लास्टिक में लपेटने काफी मुश्किल हो रही थी, इसलिए जॉय चक्रवर्ती ने अपने मृत पिता के अंगों को सर्जिकल चाकू से काट दिया और शरीर को एक प्लास्टिक की बोरी में लपेट दिया और उसे एक स्थानीय तालाब में फेंक दिया. शव को तालाब में फेंक मां-बेटे ने मृतक के कटे अंगों को इलाके की अलग-अलग झाड़ियों में फेंक दिया. पुलिस की पूछताछ में जॉय की मां श्यामली चक्रवर्ती ने कहा कि उसका पति शराब का आदी था, जिसके कारण वह परिवार के जरूरतें पूरी नहीं कर पा रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *