Breaking News

बच्‍चे ने देखा PORN वीडियो, सनकी तानाशाह किम जोंग उन ने पूरे परिवार को दी ये सजा

अपने सख्त फैसलों के लिए मशहूर उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन एक बार फिर चर्चा में हैं. किम जोंग उन ने पोर्न फिल्मों के खिलाफ अपनी जंग को तेज करते हुए हाल ही में पोर्न देखने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है. एक किशोर के पोर्न फिल्म देखने पर उसको और उसके पूरे परिवार को सख्त सजा सुना दी है. दरअसल, दुनिया में कई देशों और राज्यों में पोर्न देखने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू हो गई है. इन सबके बीच उत्तर कोरिया से यह खबर सामने आई है. किशोर रात के वक्त अपने माता-पिता के घर पर न होने के दौरान पोर्न वीडियो देख रहा था. जांच पड़ताल कर रही टीम की नज़र में उसकी एक्टिविटी आई तो उसे पकड़ लिया गया.


डेलीएनके की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर कोरिया की सत्तारूढ वर्कर्स पार्टी स्कूल के अंदर बच्चों के पोर्न देखने के खिलाफ अभियान चला रही है. इसी के चलते पुलिस ने जब ये एक्टिविटी देखी तो वो वहां पहुंच गयी. सजा के रूप में उस किशोर व उसके परिवार को जिलाबदर कर दिया यानी उन्हें उत्तर कोरिया के दूरस्थ इलाके में भेज दिया गया. किम जोंग ने पिछले साल पोर्न फिल्मों के खिलाफ अपना अभियान शुरू किया था. किम जोंग ने कहा कि गैर समाजवादी विचार एक तरह से ट्यूमर के समान है जो एकता में बाधा डालता है. उत्‍तर कोरिया ने पॉर्न फिल्‍मों पर लगाम लगाने के लिए एक कानून बनाया है. इसके तहत ऐसे दोषियों को 5 से लेकर 15 साल तक सजा के रूप में जबरन काम कराया जा सकता है.

इतना ही नहीं ऐसी सामग्री का आयात करने वाले लोगों को लेबर कैंप में आजीवन कारावास से लेकर मौत की सजा दी जा सकती है. स्‍कूल के प्रिसिंपल को भी जबरन काम करने के लिए लेबर कैंप में भेज दिया गया है. उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग अपने सख्त फैसलों के लिए मशहूर हैं. कोरोना महामारी के चलते उत्तर कोरिया में कोरोना गाइडलाइन्स भी काफी सख्त हैं. हालांकि शुरू में उत्तर कोरिया ये दावा करता रहा है कि उसके देश में कोरोना वायरस का कोई मामला नहीं है लेकिन विश्लेषक इस दावे की गंभीरता पर सवाल उठाते रहे हैं.

हाल ही में उत्तर कोरिया के लीडर किम जोंग उन की पत्नी भी एक पब्लिक इवेंट में नजर आई थीं, जो कोरोना काल यानी पिछले लगभग एक साल से पब्लिक इवेंट्स से गायब चल रही थीं. बता दें कि दुनिया के कई देशों में पोर्न के खिलाफ मुहिम तेज कर दी गई है. अभी कुछ समय पहले उत्तरप्रदेश में भी योगी सरकार ने पोर्न देखने पर सख्त पाबंदी लगाई थी और 1090 नम्बर शुरू किया था जिससे पुलिस को पोर्न देखने वालों की लोकेशन पता चले और वो उन्हें पकड़ सके. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यह भी तय किया गया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और साइकोग्राफिक्स जैसी अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुए चाइल्ड पोर्नोग्राफी से संबंधित इंटरनेट पर उपलब्ध सामग्री सर्च करने वाले लोगों को ‘पॉप अप मेसेज’ के जरिए सैनिटाइज किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *