Breaking News

बंग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने शाकिब अल हसन के आईपीएल में खेलने को लेकर सुनाया फैसला

बंग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने यहां के हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सत्र में भाग लेने के लिए उनके अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) को बरकरार रखने के फैसले के बाद बीसीबी और शाकिब के बीच श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बजाय उनकी आईपीएल में मौजूदगी को लेकर खड़े हुए विवाद के खत्म होने के आसार हैं। बोर्ड का यह अंतिम फैसला उसके द्वारा दोनों पक्षों के बीच विवाद के बाद शाकिब को दी गई एनओसी पर पुनर्विचार करने की संभावना  के कुछ दिनों बाद आया है। पहले ऐसा लग रहा था कि बीसीबी शायद शाकिब को एनओसी ना दे। दरअसल शाकिब ने बीसीबी के क्रिकेट संचालन चेयरमैन अकरम खान पर बड़ा आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में खेलने के बजाय आईपीएल में खेलने के उनके फैसले को अकरम ने गलत तरीके से पेश किया है।


शाकिब अल हसन के मुताबिक उन्होंने अपने लेटर में नहीं कहा था कि वो टेस्ट में नहीं खेलना चाहते हैं। इसके बाद शाकिब की आईपीएल में भागीदारी पर संदेह बन गया था। बीसीबी के निदेशक इस्माइल हैदर ने पुष्टि की है कि शाकिब की एनओसी में कोई बदलाव नहीं होगा और वह आईपीएल में हिस्सा ले सकते हैं। जानकारी के मुताबिक शाकिब अपनी कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) टीम में शामिल होने के लिए 28 मार्च को बंगलादेश से भारत के लिए रवाना होंगे और प्रशिक्षण के लिए उपलब्ध होने से पहले सात दिन के अनिवार्य क्वारंटीन में रहेंगे।  शाकिब की एनओसी 18 मई तक मान्य है और उनकी श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में वापसी की उम्मीद है जो 20 मई से शुरू होगी। 22 मार्च को अमेरिका से बंगलादेश पहुंचे शाकिब ने गत बुधवार से मीरपुर के शेर-ए-बंगला नेशनल स्टेडियम में ट्रेनिंग भी शुरू कर दी है। इस दौरान उन्होंने अपनी खुद की क्रिकेट अकादमी के नेट्स में घंटों बिताए और अपने बल्लेबाजी कौशल को निखारने की कोशिश की और साथ ही कुछ ओवर भी फेंके, जिससे लगता है कि वह अपनी कमर की चोट से काफी हद तक उबर चुके हैं, जिसने उन्हें वेस्ट इंडीज के खिलाफ घरेलू मैदान पर दूसरे टेस्ट से बाहर कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *