Breaking News

फिल्मी जगत के लिए बुरी खबर, इस मशहूर गीतकार का हुआ निधन, कैंसर से जूझ रहे थे लेखक

साल 2020 की शुरूआत और अंत हमेशा दुनिया को याद रहेगा. ये साल दुनियाभर के लिए बहुत ही बुरा साल साबित रहा है. जिसे एक बुरे दौर की तरह देखा जा सकता है. इस साल कई क्षेत्रों से हमने बहुत से महान लोगों को खो दिया. इसी बीच एक और दुखद खबर सामने आई है. दरअसल साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म ‘अंकुश’ (Ankush) के लिए ‘इतनी शक्ति हमें देना दाता, (Itni Shakti Hamein Dena Data) जैसे मशहूर गाने को लिखने वाले गीतकार और लेखक अभिलाष (Abhilash) का निधन हो गया है. इस दुनिया को उन्होंने हमेशा के लिए अलविदा कह दिया है.

 

दरअसल खबरों की माने तो गीतकार अभिलाष कैंसर जैसी भयावह बीमारी से जूझ रहे थे. जिसके कारण सोमवार को तड़के सुबह 4 बजे उनकी मृत्यु हो गई. उन्होंने एक झटके में पूरी दुनिया को अलविदा (Lyricist Abhilash Passes Away) कह दिया. कहा जा रहा है कि बीते दिनों ही अभिलाष के लिवर में कैंसर की समस्या पाई गई थी. इस बीमारी के बाद गीतकार के लिवर ट्रांसप्लांट को लेकर डॉक्टर्स की टीम तैयारी में जुटी थी. लेकिन अचानक से स्वास्थ्य खराब होने के चलते मुंबई में ही उन्होंने दम तोड़ दिया.

अभिलाष फिल्मी जगत के काफी नामी लेखक और गीतकार थे. उन्होंने ‘लाल चूड़ा’ (1974) ‘सावन को आने दो’ (1979), ‘अंकुश’ (1986) जैसी कई फिल्मों के लिए शानदार गाने लिखे थे. बीते दो दिन पहले ही ये खबर मिली थी कि अभिलाष लिवर कैंसर की समस्या से जूझ रहे हैं. खबरों की माने तो इसी साल मार्च के महीने में उनके पेट की अंतड़ियों का भी ऑपरेशन हुआ था.Lyricist Abhilashइसके कारण उन्हें चलने फिरने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. लेकिन आज सुबह ही वो अपनी जिंदगी से जंग में हार गए और मुंबई के गोरेगांव स्थित अपने ही घर में अंतिम सांस ली.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभिलाष को पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह की ओर से कलाश्री अवॉर्ड से नवाजा गया था. ये अवॉर्ड उन्हें ‘इतनी शक्ति हमें देना दाता’ के लिए दिया गया था. उनका ये गीत आज भी काफी मशहूर है. खासकर स्कूलों की प्रार्थनाओं में इसे ज्यादा शामिल किया गया है. जानकारी के मुताबिक इस गाने को दुनियाभर में 8 भाषाओं में ट्रांसलेट किया जा चुका है. इस गीत के अलावा ‘तुम्हारी याद के सागर में’, ‘संसार है इक नदिया’ और ‘सांझ भई घर आ जा’ जैसे कई मशहूर गानों के लिए अभिलाष लोगों के बीच प्रसिद्ध थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *