Breaking News

प्रदर्शनकारी किसानों से मिलने के लिए गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे विपक्षी नेताओं को पुलिस ने रोका

 राजनीतिक दलों के विपक्षी सांसद आज गाजीपुर बॉर्डर का दौरा करने पहुंचे, जहां किसान तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। इस प्रतिनिधिमंडल में एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले, डीएमके सांसद कनिमोझी, एसएडी सांसद हरसिमरत कौर बादल, टीएमसी सांसद सौगत राय और अन्य शामिल हैं।

हालांकि पुलिस ने विपक्षी सांसदों को गाजीपुर में प्रदर्शनकारी किसानों से मिलने की अनुमति नहीं दी।

राकांपा सांसद सुप्रिया सुले जो विपक्षी सांसदों के प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा हैं, उन्‍होंने कहा कि सांसद गाजीपुर में आंदोलनकारी किसानों से मिलना चाहते थे। सुले ने कहा कि केंद्र सरकार को किसानों के साथ चर्चा करनी चाहिए और महीनों से चल रहे गतिरोध को समाप्त करना चाहिए।

राकांपा सांसद ने कहा, “हम सभी किसानों का समर्थन करते हैं, हम सरकार से किसानों के साथ बातचीत करने और उनके साथ न्याय करने का अनुरोध करते हैं।”

यह मानवीय अधिकार का उल्लंघन है: गाजीपुर में भारी बैरिकेडिंग पर DMK कनिमोझी

गाजीपुर के विरोध स्थल पर टिप्पणी करते हुए DMK सांसद कनिमोझी ने कहा, “यह मानवीय अधिकार का उल्लंघन है। शर्तों को देखने के लिए सांसद गाजीपुर सीमा पर आए हैं। हमारे अपने लोगों को बहु के साथ राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने से रोक दिया गया है।” उन्होंने विरोध स्थल पर लोहे की छड़, कंक्रीट की दीवार और कंटीले तारों को रखने और इंटरनेट को निलंबित करने के लिए सरकार की आलोचना की।

गाजीपुर बॉर्डर पर भारी बैरिकेडिंग पर टीएमसी सांसद सौगत राय ने केंद्र को घेरा

तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने गाजीपुर सीमा पर लगाए गए भारी बैरिकेडिंग को लेकर सरकार की खिंचाई की। उन्होंने कहा कि वह सरकार के कार्यों की निंदा करते हैं। उन्होंने दावा किया कि सांसदों के प्रतिनिधिमंडल को पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से मिलने से रोक दिया।

स्पीकर को विरोध स्थल का विवरण देंगे: हरसिमरत कौर बादल

शिरोमणि अकाली दल (SAD) की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि विपक्षी सांसदों ने आज विरोध स्थल का दौरा किया। उन्होंने कहा, “हम यहां हैं ताकि हम इस मुद्दे (किसानों के विरोध) पर संसद में चर्चा कर सकें, अध्यक्ष हमें इस मुद्दे को उठाने नहीं दे रहे हैं। अब सभी दल यहां क्या हो रहा है, इसका विवरण देंगे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *