Breaking News

पुलिस ने एनकाउंटर कर डॉक्टर को छुड़ाया, फायरिंग में एक घायल, बदमाशों के पास से फिरौती के 40 लाख रुपये बरामद

उत्तर प्रदेश के चंदौली में डॉक्टर का अपहरण करने वाले बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई. इस मुठभेड़ में एक बदमाश घायल हो गया. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में उसके पैर में गोली लगी है, जबकि तीन अन्य बदमाश भी पकड़े गए हैं. पुलिस ने डॉक्टर को भी सकुशल बरामद कर लिया है, साथ ही फिरौती की रकम 40 लाख 50 हजार रुपये भी बरामद कर लिया है. दरअसल, 2 दिन पहले सोमवार की देर शाम चंदौली जिले के बलुआ थाना क्षेत्र के चहनियां बाजार में होम्योपैथिक क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर अमरेश्वर मौर्या का घर जाते समय कुछ कार सवारों ने अपहरण कर लिया. इस मामले में परिजनों ने पुलिस को भी जानकारी तो पुलिस डॉक्टर की तलाश में जुट गई. इसी दौरान अपहृत डॉक्टर के फोन से उसके घरवालों को फोन किया गया और उसकी वापसी के लिए 70 लाख की फिरौती की मांग की गई. घर वालों ने किसी तरह पैसे का इंतजाम किया और अपहरणकर्ताओं द्वारा बताये गये स्थान पर 40 लाख 50 हजार भेज दिए.

उधर, पुलिस भी अपहरणकर्ताओं के पीछे पड़ी थी और सर्विलांस के माध्यम से उनको ट्रेस कर रही थी. पुलिस को बुधवार सुबह सर्विलांस द्वारा अपहरणकर्ताओं की लोकेशन मिली. इसके बाद कई थानों की पुलिस ने अपहरणकर्ताओं की घेराबंदी की और नेशनल हाईवे-2 अलीनगर थाना क्षेत्र के बिलारीडीह गांव के पास अपहरणकर्ताओं को घेर लिया. पुलिस से खुद को घिरा देख कार सवार अपहरणकर्ताओं ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी और फरार होने की कोशिश करने लगे. बदमाशों की दो गोली इंस्पेक्टर बलुआ की जीप पर लगी, जिसमें थाना बलुआ के प्रभारी निरीक्षक उदय प्रताप सिंह बाल-बाल बच गए. अपहरणकर्ताओं द्वारा फायरिंग किये जाने पर पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की. जिसमें एक गोली राजीव नाम के अपहरणकर्ता के पैर में लगी. इस मुठभेड़ के बाद पुलिस ने बदमाश राजीव के साथ उसके एक अन्य साथी को गिरफ्तार कर लिया और उनकी निशानदेही पर अपहृत डॉक्टर को भी रामनगर के पास टेंगरा मोड़ स्थित एक घर से बरामद कर लिया.

पुलिस ने यहां से भी दो अन्य अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया है, जो डॉक्टर की निगरानी कर रहे थे. पुलिस ने अपहरणकर्ताओं की कार से वो 40 लाख 50 हजार रुपए भी बरामद कर लिए जो डॉक्टर के परिजनों ने अपहरणकर्ताओं को फिरौती के तौर पर दिए थे. इस मामले में चंदौली के एसपी अमित कुमार ने बताया कि तकरीबन 36 घंटे पहले बलुआ थाना क्षेत्र से एक होम्योपैथिक डॉक्टर का अपहरण कर लिया गया था. पुलिस ने इस मामले में मुकदमा भी दर्ज किया था और अपहरणकर्ताओं की तलाश में जुटी थी. सर्विलांस द्वारा जब पुलिस को अपहरणकर्ताओं की लोकेशन मिली, तो उनको गिरफ्तार करने के लिए पुलिस द्वारा उनकी घेराबंदी की गई. लेकिन इसी दौरान बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी और फरार होने की कोशिश करने लगे. पुलिस द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश के पैर में गोली लगी, इसके बाद कार सवार दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया और उनकी निशानदेही पर डॉक्टर को भी सकुशल बरामद कर लिया गया. साथ ही साथ डॉक्टर के परिजनों द्वारा चुकाई गई फिरौती की रकम को भी बरामद कर लिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *