Breaking News

पति को नहीं मिली कोई सहायता, पत्नी को कंधों पर लेकर कई किलोमीटर पैदल ही चल पड़े, रास्ते में मौत

देश को आजाद हुए 75 साल हो गए है लेकिन आज भी भारत में कई इलाके इतने पिछड़े हैं कि यहां मूलभूत सुविधाओं तक लोगों की पहुंच नहीं है. ऐसा ही दृश्य महाराष्ट्र के नंदुरबार से देखने को मिला. यहां सड़क खराब होने के चलते पति अपनी बीमार पत्नी को कंधे पर अस्पताल ले गया. लेकिन समय पर अस्पताल ना पहुंचने के चलते बीमार पत्नी की मौत हो गई. मामला 9 सितंबर का है. नंदुरबार जिले के तलोदा के चांदसवाली आदिवासी गांव की रहने वाली सिदलीबाई के पेट में अचानक से तेज दर्द शुरू हुआ. गांव के लोगों ने महिला को बड़े अस्पताल ले जाने की सलाह दी. अस्पताल गांव से करीब 30 किलोमीटर दूर था. खराब मौसम और खराब सड़क के चलते एम्बुलेंस गांव तक नहीं पहुंच पा रही थी. ऐसे में पति ने स्कूटर से ही पत्नी को ले जाने का फैसला किया.

कुछ दूर चलने के बाद पहाड़ियों से लैंडस्लाइड के चलते सड़क मलबे से जाम हो गई. ऐसे में स्कूटर से अस्पताल पहुंचना संभव नहीं था. पति ने कंधे पर लादकर पत्नी को अस्पताल ले जाने का फैसला किया. पति जान सिंह कंधे पर पत्नी को लादकर कुछ दूर ही चल पाया था. उसकी पत्नी दर्द से तड़प रही थी. इसी बीच पत्नी ने दम तोड़ दिया. इस दर्दनाक दृश्य को कुछ लोगों ने अपने मोबाइल पर भी कैद कर लिया. हालांकि, जब तक कोई मदद पहुंचाता, सिदलीबाई की मौत हो गई थी. जान सिंह लाख कोशिशों के बाद भी पत्नी को नहीं बचा सका. सिदलीबाई ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया. ऐसे में वह शव को सड़क पर रखकर फूट फूट कर रोने लगा. इस हृदयविदारक दृश्य को देखकर वहां मौजूद सभी लोगों के आंखों में आंसू आ गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *