Breaking News

‘नारियल पानी ले आओ’, TRS विधायकों ने पुलिस को बुलाने के लिए किया था कोडवर्ड का इस्तेमाल

नारियल पानी ले आओ… तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के 4 विधायकों (MLA) और साइबराबाद पुलिस (cyberabad police) के बीच दलबदल (Horse Trading) के लिए इसी कोडवर्ड इस्तेमाल हुआ था. टीआरएस (TRS) ने बीजेपी (BJP) पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया था. हॉर्स ट्रेडिंग के लिए करोड़ों रुपयों का ऑफर करने वाले आरोपियों को पकड़ने के लिए विधायकों ने ही पुलिस को मोइनाबाद फार्महाउस (Form House) बुलाया था. यहां पर सत्ताधारी पार्टी टीआरएस ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरोख्त करने की कोशिश का आरोप लगाया था पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. बाद में एसीबी कोर्ट (ACB Court) के आदेश के बाद आरोपियों को छोड़ दिया गया.

गुरुवार (28 अक्टूबर) की रात भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने अदालत के समक्ष साइबराबाद पुलिस की पेश की गई रिमांड रिपोर्ट में पुलिस ने कहा कि उन्होंने तंदूर विधायक पायलट रोहित रेड्डी के स्वामित्व वाले फार्महाउस में बड़े हॉल के अंदर 3 जासूसी कैमरे पहले से लगाए थे. पुलिस ने कहा कि उन्होंने रोहित को तीन आरोपियों – रामचंद्र भारती, नंद कुमार और सिंह्याजी स्वामी के साथ बातचीत रिकॉर्ड करने के लिए एक वॉयस रिकॉर्डर भी दिया था.

पुलिस के पास बातचीत का रिकॉर्ड
रोहित के अलावा, अन्य तीन विधायक गुववाला बलाराजू, रेगा कांथा राव और बी हर्षवर्धन रेड्डी मौजूद थे. पुलिस ने आरोपी भारती और कुछ लोगों के बीच कथित फोन चैट के स्क्रीनशॉट भी संलग्न किए, जिनके नाम सुनील कुमार बंसल बीजेपी और संतोष बीजेपी के रूप में सेव किए गए थे. हालांकि पुलिस ने इन नामों को कोई पदनाम नहीं दिया है. भारती और बंसल के बीच बातचीत का शब्दशः संदर्भ में कहा गया है, “हरि नमस्ते बंसल जी. तेलंगाना के बारे में आपसे महत्वपूर्ण बात करने की जरूरत है कृपया कुछ समय सुझाएं जहां मैं चर्चा कर सकूं.”

40 विधायकों को तोड़ने की साजिश
एक आरोपी और संतोष बीजेपी के बीच एक अन्य संदेश में कहा गया है “कुल 25 सदस्य हमारे साथ जुड़ने के लिए तैयार हैं, वे सभी मेरे सर्कल में हैं, बिना गलती के 40 सदस्यों के जल्दी से जल्दी शामिल होने की योजना है.” पुलिस ने यह भी कहा कि भारती ने टीआरएस विधायकों के साथ बातचीत के दौरान तुषार नाम के एक व्यक्ति को फोन किया, जिसे रोहित ने रिकॉर्ड कर लिया. रोहित रेड्डी द्वारा दी गई शिकायत के अनुसार, “दिल्ली के रामचंद्र भारती और नंद कुमार ने शिकायतकर्ता से मुलाकात की. उन्होंने भाजपा में शामिल होने और भाजपा उम्मीदवार के रूप में अगला चुनाव लड़ने के लिए उनके साथ बातचीत की, जिसके लिए उन्होंने 100 करोड़ और केंद्र सरकार के नागरिक अनुबंध की पेशकश की.”

विधायकों को तोड़ने के लिए 50 करोड़ तक की पेशकश
रोहित ने कहा कि अगर वह भाजपा में शामिल नहीं हुए तो उन्हें आपराधिक मामलों और ईडी और सीबीआई द्वारा छापेमारी की धमकी दी गई. अन्य विधायकों के लिए, उन्होंने भाजपा में शामिल होने के लिए 50 करोड़ रुपये की पेशकश की. नंदा कुमार ने बताया कि वह विधायक के फार्महाउस पूजा में शामिल होने गए थे. नंदा कुमार ने कहा, “मैं सिंह्याजी के साथ ‘संराज्यलक्ष्मी’ पूजा के लिए वहां गया था. मुझे नहीं पता कि पुलिस को हमें गिरफ्तार करने के लिए क्या सूचना मिली थी. हमने कुछ भी गलत नहीं किया है. पुलिस ने हमें न्यायाधीश के सामने पेश किया और मुझे विश्वास है कि कानूनी तंत्र जीत गया है. मुझे कुछ नहीं करना है रोहित रेड्डी ने जो कहा है या अन्य आरोप लगाए हैं उसके साथ. कोई घोटाला नहीं है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *