Breaking News

नवरात्री स्पेशल: नवरात्री में माता की पूजा के दौरान पूजा की थाली में जरूर होनी चाहिए ये चीज़े

नवरात्री में माता की पूजा के दौरान पूजा की थाली में जरूर होनी चाहिए ये चीज़े माता की पूजा के लिए अभी से समान की खरीददारी की शुरुआत क्र दे नवरात्रि में भक्तजन नो दिनों माँ की पूजा करते है इन नो दिनों में माँ के नो रूपों की पूजा होती है वो नो रूप इस प्रकार है मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री. माता के हर स्वरुप की पूजा अलग-अलग तरह से होती है।

माता की पूजा के लिए अभी से समान की खरीददारी की शुरुआत क्र दे नवरात्रि में भक्तजन नो दिनों माँ की पूजा करते है इन नो दिनों में माँ के नो रूपों की पूजा होती है वो नो रूप इस प्रकार है मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री. माता के हर स्वरुप की पूजा अलग-अलग तरह से होती है।

जिसके लिए अगर विधिवत पुजा सामग्री ना हो तो पूजा को अधूरी माना जाता है इसलिए हम आपके लिए पूजा की सामग्री की पूरी लिस्ट लाये है।

मां दुर्गा के सोलह श्रंगार के लिए: लाल चुनरी, लाल चूड़ी, बिछिया, पायल, लाल सिन्दूर, महावर, लाल रंग की बिंदी, लाल रिबन, मेहंदी, लाल नेलपॉलिश, हार, कान के लिए कर्णफूल, लाल रंग की लिपस्टिक।

कलश स्थापित करने के लिए: मिट्टी का कलश, पानी वाला नारियल (जटा) के साथ, आम्रपत्र, मौली, रोली, गंगा जल, केसर जायफल, एक सिक्का, जौ, एक दिया, दही, रुई की बत्ती।

नवरात्र में हवन करने के लिए हवन कुंड, हर दिन के लिए 9 लौंग, कपूर, सुपारी, गुग्गुल, धूप-बत्ती, पंच-मेवा, देसी घी, चावल, आम की लकड़ी.जौ बोने के लिए: मिट्टी का एक बर्तन, साफ मिट्टी ( जिसमें जौ बोया जा सके), जौ।

 

अखंड ज्योति के लिए: मिट्टी का दिया, गाय का घी, रुई की बत्ती, चावल, हवन सामग्री, आम की सूखी लकड़ी, हवन सामग्री।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *