Breaking News

नर्स यूनियन के अध्यक्ष को सस्पेंड करने पर एम्स के नर्सिग स्टाफ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AllMS) की नर्स यूनियन के अध्यक्ष (Nurses Union President) हरीश काजला (Harish Kajla) के निलंबन (Suspension) का विरोध करते हुए मंगलवार को नर्स यूनियन (Nurses Union) ने अनिश्चितकालीन हड़ताल (Indefinite Strike) शुरू कर दी (Started) ।

22 अप्रैल को ओटी मरीज की सेवा बाधित होने के मामले पर कार्रवाई करते हुए अस्पताल प्रशासन ने सोमवार रात नसिर्ंग अधिकारी हरीश कुमार काजला को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। काजला के निलंबन को रद्द करने और यूनियन के सदस्यों के खिलाफ सभी प्रकार की जवाबी कार्रवाई को रोकने की मांग की जा रही है।

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया को लिखे पत्र में नर्स यूनियन ने कहा, एम्स नर्स यूनियन के अध्यक्ष हरीश काजला को बिना उचित कारण बताए निलंबित करने के आपके एकतरफा फैसले के जवाब में, यूनियन ने एक आपातकालीन कार्यकारी बैठक बुलाई है और तत्काल मांग करते हुए सुबह 8 बजे, 26/4/2022 से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। हमारी मांग है कि हरीश कुमार काजला के निलंबन को रद्द कर दिया जाए। साथ ही यूनियन के अधिकारियों और मुख्य ओटी के यूनियन सदस्यों के खिलाफ कोई भी कार्रवाई न की जाए।

एक बयान में, यूनियन ने कहा, इस पूरे मुद्दे पर अपनी बात कहने और राय रखने के लिए हमें न तो बुलाया गया और न ही हमसे संपर्क किया गया। जिसके कारण हम अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर हुए।

मामले को लेकर एम्स आरडीए ने कहा कि काजला का निलंबन उनके दुर्व्यवहार और एक रेजिडेंट डॉक्टर के खिलाफ अभद्र भाषा के इस्तेमाल करने को लेकर की गई कार्रवाई है। जो कोई भी इस मामले को राजनीतिक लाभ के लिए मोड़ रहा है, ध्यान रखें कि आरडीए, एम्स हमेशा अपने स्टाफ के स्वाभिमान के लिए लड़ता आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *