Breaking News

दो सिर और तीन आंखें, नवरात्रि में गाय ने दिया अनोखे बछड़े को जन्म

ओडिशा के नबरंगपुर जिले के कुमुली पंचायत के बीजापुर गांव में एक गांव ने अनोखे बछड़े को जन्म दिया है। जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। बछड़े ने दो सिर और तीन आंखों के साथ जन्म लिया है। वहीं स्थानीय लोगों ने मां दुर्गा का अवतार मान पूजा भी शुरू कर दी है।

 

किसान धनीराम ने 2 साल पहले ये गाय खरीदी थी। बछड़े के दो मुंह होने की वजह से मां का दूध पीने में भी परेशानी हो रही है। बाहर से दूध खरीदकर बछड़े को दूध पिला रहे हैं धनीराम। इस अनोखे बछड़े को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर बछड़े की कई तस्वीरें और वीडियो सामने आए हैं। जिसमें उसके दो सिर दिखाई दे रहे हैं।

ओडिशा (Odisha) के नबरंगपुर में नवरात्रि (Navratri) के दौरान एक गाय (Cow) ने दो सिर वाले बछड़े (Calf) को जन्म दिया. इस बछड़े का जन्म दो सिर (Calf with Two Heads) और तीन आंखों के साथ हुआ. बछड़े के जन्म के तुरंत बाद स्थानीय लोगों ने ‘मां दुर्गा के अवतार’ के रूप में इसकी पूजा करना शुरू कर दिया. आइए जानते हैं इस अनोखे बछड़े के बारे में..

 

आपको बता दें कि इस बछड़े का जन्म नबरंगपुर जिले (Nabrangpur) के कुमुली पंचायत के बीजापुर गांव (Bijapur) में हुआ. यहां किसान धनीराम की गाय ने जब इस बछड़े को जन्म दिया तो सभी लोग हैरान रह गए. क्योंकि बछड़े के दो सिर और तीन आंखें थीं.

धनीराम ने दो साल पहले गाय खरीदी थी. हाल ही में जब गाय को प्रसव में कुछ परेशानी हुई, तो धनीराम ने उसकी जांच की और पाया कि बछड़ा दो सिर और तीन आंखों के साथ पैदा हुआ है. धनीराम के बेटे ने ‘इंडिया टुडे’ को बताया, “बछड़े को अपनी मां का दूध पीने में परेशानी हो रही है, इसलिए हमें बाहर से दूध खरीदना पड़ता है और उसे पिलाना पड़ता है.”

नवरात्रि के अवसर पर अनोखे बछड़े के जन्म लेने के कारण मोहल्ले के लोगों ने बछड़े की ‘मां दुर्गा के अवतार’ के रूप में पूजा करना शुरू कर दिया है. ग्रामीण बछड़े का दक्षिण की ओर मुंह करके पूजा कर रहे हैं, क्योंकि उनके लिए दिशा पवित्र मानी जाती है. फिलहाल, इस अनोखे बछड़े को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर बछड़े की कई तस्वीरें और वीडियो सामने आए हैं. जिसमें उसके दो सिर दिखाई दे रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *