Breaking News

दो टीवी चैनलों का लाइसेंस रद्द, निगरानी रखने वाली संस्था ने बयान जारी कर दी जानकारी

मीडिया पर निगरानी रखने वाली संस्था (PEMRA) ने सोमवार को कराची के दो टीवी चैनलों बोल न्यूज और बोल इंटरटेनमेंट का प्रसारण बंद करने का फैसला किया. पेमरा ने इस कदम की वजह गृह मंत्रालय से सिक्योरिटी क्लीयरेंस नहीं मिलना बताया है. पेमरा ने अपनी बैठक में फैसला लिया कि गृह मंत्रालय से सुरक्षा मंजूरी मिलने तक चैनलों को संचालन की मंजूरी नहीं दी जा सकती. पेमरा की ओर से जारी बयान में कहा गया, पेमरा ने गृह मंत्रालय के सभी रिकॉर्ड, अदालती आदेश और नोटिस की समीक्षा की और तत्काल प्रभाव से बोल न्यूज और बोल इंटरटेनमेंट चैनल का लाइसेंस रद्द करने का फैसला किया.

यह भी संज्ञान में लाया गया कि बोल इंटरटेनमेंट का लाइसेंस दिसंबर 2021 में एक्सपायर हो गया था लेकिन कंपनी ने लाइसेंस के रिन्यू के लिए पेमरा से संपर्क नहीं किया. हालांकि, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस फैसले को उनकी पार्टी को लेकर सहानुभूति रखने वाली मीडिया पर प्रतिबंध लगाने की मौजूदा सरकार की नीति का हिस्सा बताया है. इमरान खान ने ट्वीट कर कहा, आज पाकिस्तान में हम जिस फासीवाद और सेंसरशिप को देख रहे हैं, ऐसा हमने पहले कभी नहीं देखा. खान ने ट्वीट कर कहा कि पाकिस्तान की इंपोर्टेड सरकार मीडिया और पत्रकारों पर सेंसरशिप लगा रही है और फासीवादी स्तर तक उनका उत्पीड़न कर रही है. अब बोल न्यूज का लाइसेंस सिर्फ इसलिए रद्द कर दिया क्योंकि वह हमारी कवरेज कर रहा था. यह सभी मीडिया हाउसेज को एक संदेश है कि वह देश की सबसे बड़ी और लोकप्रिय पार्टी की कवरेज नहीं करे. यह अस्वीकार्य है.

मालूम हो कि बोल न्यूज के टॉक शो में पाकिस्तान के मौजूदा राजनीतिक संकट और सैन्य नेतृत्व को लेकर की गई टिप्पणी को लेकर उसका प्रसारण बंद कर दिया गया था. हाल के महीनों में यह दूसरा मामला है, जिसकी इमरान खान ने आलोचना की है. इससे पहले एआरवाई न्यूज (ARY News) का प्रसारण भी रोक दिया गया था लेकिन समाज के विभिन्न वर्गों के विरोध के बाद प्रसारण पर लगी पाबंदी को हटा दिया गया था. बता दें कि पिछले महीने पेमरा ने सभी टीवी चैनलों द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषणों के सीधे प्रसारण पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी थी. यह कदम ऐसे समय में उठाया गया था, जब चंद घंटों पहले ही इमरान खान इस्लामाबाद में एक रैली को संबोधित कर रहे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *