Breaking News

देवबंद : रचनात्मक कार्यों से आता है समाज में बदलाव : संत विजय कौशल जी महाराज

रिर्पोट :- गौरव सिंघल,विशेष संवाददाता,दैनिक संवाद,सहारनपुर मंडल।

देवबंद। 
अंतरर्राष्टीय रामकथा मर्मग संत प्रवर विजय कौशल महाराज ने कहा कि रचनात्मक कार्यों से समाज में बदलाव आता है और दीन-दुखियों की सेवा ही ईश्वर की सच्ची उपासना है। समाज के हर वर्ग के लोगों को सेवा कार्यो से खुद को जोडना चाहिए। उससे उनका जीवन सही मायने में सार्थक बन पाएगा। विजय कौशल जी महाराज मंगलमय परिवार के संयोजक नगर के प्रमुख समाजसेवी विनोद कुमार गुप्ता के आग्रह पर आज देवबंद पधारे और उन्होंने द दून वैली पब्लिक स्कूल के सभागार में करीब दो सौ श्रद्धालुओं के बीच उन सेवा कार्यों का उल्लेख किया जो उनके द्वारा उत्तर प्रदेश के प्रमुख तीर्थ स्थल और भगवान श्रीकृष्ण और श्रीराधा की पावन भूमि वृंदावन में करीब-करीब पूरे हो गए है। जिनका आगामी कुछ माह के दौरान लोकापर्ण होने वाला है।  

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में सहारनपुर जनपद में अपनी अच्छी पहचान रखने वाले और बाद में रामकथा के जरिए इस पूरे क्षेत्र में गहरा सम्मान प्राप्त विजय कौशल जी ने कहा कि 40 साल से उन्होंने वृंदावन को अपने सेवा कार्यों का केंद्र बनाया हुआ है। कुछ सालो पूर्व उन्होंने वहां की जो दुर्दशा देखी उससे उन्हें आत्मग्लानि हुई और उन्होंने उस क्षेत्र को खराब स्थिति से बाहर निकालने के लिए बडे संकल्प लिए जो भगवान श्रीकृष्ण और राधारानी के आर्शीवाद से पूर्ण हो गए। उन्होंने कहा कि वृदांवन में लाखो तीर्थ यात्री आते है। उन्होंने यात्रियों को निःशुल्क और सुरूचिपूर्ण भोजन उपलब्ध कराने के लिए श्रीजी की रसोई तैयार कराई है। इसके लिए पूरी भूमि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदान कराई और सुविधा संपन्न भव्य भवन निर्माण के लिए तत्काल पांच करोड रूपया प्रदान किया। दो मंजिला इस अति आधुनिक रसेाई में एक बार में छह सौ तीर्थ यात्री गरिमा के साथ भोजन कर सकेंगे। चार पारी सुबह को और चार शाम को चलेगी। करीब 48 सौ यात्री के भोजन की व्यवस्था रहेगी। सेवा कार्य उनके श्रद्धालु करेंगे। उन्होंने लोगों से प्रार्थना की कि वे इन सेवा कार्यों से जुडे।

संत कौशल जी महाराज ने यह भी बताया कि वृदांवन में स्वामी विवेकानंद हेल्थ मिशन सोसायटी के तत्वावधान में उनके प्रयासों से 9 एकड भूमि पर 300 करोड की लागत से तीन सौ बैड का अस्पताल और तीन सौ तीमारदारों के ठहरने के लिए सुविधा संपन्न भवन तैयार हो गया है। जिसका दीपावली के आसपास लोकापर्ण होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि उनके एक श्रद्धालु ने ही डेढ सौ रूपए का दान दिया है और एक संस्था अपनी ओर से भवन निर्माण करा रही है। सभी तीमारदारों को भोजन वगैरह की निःशुल्क व्यवस्था रहेगी। स्वामी जी ने कार्यक्रम में अपने होने वाले अभिंनदन को आग्रह पूर्वक ना कर दिया। संयोजक विनोद गुप्ता, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष चैधरी राजपाल सिंह, विख्यात चिकित्सक डा. डीके जैन, द दून वैली स्कूल के चेयनमैन राजकिशोर गुप्ता एवं प्रबंधक अनुराग सिंघल, पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री हुलाश राय सिंघल आदि की ओर से एक सुंदर कलाकृति कौशल जी महाराज को श्रीजी की रसोई में लगाने के लिए भेंट की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *