Breaking News

दुनिया का अनोखा शहर, जहां लोग अंडरग्राउंड रहना करते हैं पसंद, जानिए इसके पीछे का कारण ?

शहरों में ऊंची-ऊंची इमारतें, बहुमंजिली, यहां तक कि गगनचुंबी इमारतों (buildings) को तो आप रोज देखते हैं लेकिन क्या आप किसी ऐसे शहर (city) को जानते हैं जहां के लोग अंडरग्राउंड (underground) रहना ज्यादा पसंद करते हैं. हां, दुनिया में एक ऐसा ही शहर हैं जहां हर तरफ मकान (House) जमीन के नीचे बने हुए हैं और लोग जमीन के अंदर ही रहना पसंद करते हैं. बेशकीमती ओपल जेमस्टोन (opal gemstone) के लिए मशहूर यह शहर रेगिस्तान के बीच में बसा हुआ है और यहां के क्लाइमेट के हालात ऐसे हैं कि लोग अंडरग्राउंड ही रहना पसंद करते हैं.

दुनिया के अनोखे अंडरग्राउंड सिटी के रूप में मशहूर इस शहर का नाम है कूबर पेडी. यह साउथ ऑस्ट्रेलिया के रेगिस्तानी इलाके में बसा हुआ है. इसे धरती का मॉर्डन ‘पाताललोक’ भी कह सकते हैं. दशकों से यहां बहुमूल्य रत्न Opal gemstones के लिए खदानों में खुदाई होती रही है और ऐसे में धरती के अंदर बड़े-बड़े खदान बन गए हैं. भीषण गर्मी से परेशान यहां के लोगों ने इन खदानों में ही अपना घर बसा लिया है. इस शहर में 1500 ऐसे खदान हैं जिनमें लोगों ने घर बना लिया है. जमीन के अंदर बने हुए इन घरों में सारी सुविधाएं भी हैं और रहने की सहूलियत के हिसाब से डिजाइन भी.

दुनिया का ओपल कैपिटल है ये छोटा सा शहर
इस शहर की आबादी करीब 3500 लोगों की है. जिनमें से आधे से अधिक लोग अंडरग्राउंड मकानों मे रहते हैं. इस शहर के बसने की कहानी भी कम रोचक नहीं है. ये शहर 100 साल पहले बसा था जब एक उत्साही नवयुवक ने यहां Opal Gemstones की खोज की थी. फिर लोगों का यहां आना शुरू हुआ और opal gemstones का खनन शुरू हो गया. दुनिया भर में opal gemstones के कुल उत्पादन का 70 फीसदी यहीं से मिलता है इसलिए इसे दुनिया का ओपल कैपिटल भी कहा जाता है.

क्या खास है यहां के ओपल में?
यहां 70 से अधिक ओपल माइन फील्ड हैं. हाल ही में यहां एक ओपलाइज पर्ल की खोज की गई है जिसका इतिहास हजारों साल पुराना है. ओपल एक दूधिया रंग का बेशकीमती स्टोन होता है. ओपल या दूधिया पत्थर एक बहुमूल्य रत्न है जिसका इस्तेमाल आधुनिक आभूषणों के निर्माण और ज्योतिषिय आभूषण बनाने में किया जाता है. कई ग्रहों की काट के लिए ज्योतिष ओपल धारण करने की सलाह लोगों को देते हैं. ओपल की दुनियाभर में मांग है. इसलिए इसकी कीमत काफी अधिक होती है. कूबर पेडी का मौसम ऐसा है कि यहां के पत्थर की दरारों में भी ओपल जेमस्टोन अपने आप तैयार हो जाता है और इसके खनन में बहुत आसानी भी होती है.

क्यों अंडरग्राउंड रहना पसंद करते हैं लोग?
कूबर पेडी शहर में तापमान बहुत तेजी से बदलता है. बालू के बने खुरदरे पत्थर यहां बहुतायत में हैं इसलिए गर्मी बहुत तेजी से बढ़ती है यहां. गर्मी के दिनों में यहां का तापमान 100 फारेनहाइट से भी नीचे चला जाता है. ऑस्ट्रेलिया के तापमान के हिसाब से ये काफी गर्म माना जाता है और रेगिस्तान में होने और चट्टानी इलाका होने के कारण कूबर पेडी शहर में जमीन के ऊपर लोगों का रहना काफी मुश्किल हो जाता है. इसीलिए लोग अंडरग्राउंड मकानों में रहना पसंद करते हैं.

केव वॉल्स के पीछे एक पूरा संसार बसा है यहां
जमीन के नीचे खदानों के लिए खुदे इलाकों में बने इन मकानों में तापमान गजब का रहती है. cave walls होने के कारण यहां बाहरी मौसम का असर कम ही देखने को मिलता है. इन अंडरग्राउंड मकानों में रहने वालों को ना तो जाड़े में हीटर की जरूरत पड़ती है और ना ही गर्मी में एसी की. लोगों ने अंडरग्राउंड ही बड़े-बड़े फ्लैट तैयार कर रखे हैं. खास बात एक और है कि न केवल यहां के मकान अंडरग्राउंड हैं बल्कि यहां पर अंडरग्राउंड होटल, चर्च, रेस्टोरेंट और बार भी हैं जो बाहर से आने वाले सैलानियों को आकर्षित करते हैं और यहां टूरिस्ट प्लेस वाला माहौल हमेशा बना रहता है.

कभी इस रेगिस्तान में बाढ़ भी आ गया था!
दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में मौजूद कूबर पेडी शहर एडिलेड और एलिस स्प्रिंग्स के बीच स्थित है. यहां बारिश कम ही होती है इसलिए पौधों की हाइट काफी कम होती है. रेगिस्तानी इलाका होने के कारण पानी काफी मुश्किल से जुटा पाते हैं यहां के लोग. अब कई इलाकों में स्थानीय प्रशासन ने सप्लाई की व्यवस्था की है. लेकिन 8 साल पहले भारी बारिश के कारण यहां बाढ़ भी आ गई थी. स्टूअर्ट हाइवे पर बसे होने के कारण यहां टूरिस्टों का आना-जाना काफी लगा रहता है. अंडरग्राउंड खदानों में बना यहां का म्यूजियम काफी लोकप्रिय है और इस अनोखे इलाके की जीवनशैली देखने आने वालों के लिए काफी बड़ा अट्रैक्शन है साथ ही ओपल जेमस्टोन में रूची रखने वाले लोगों के लिए भी यह खासा महत्व रखता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *