Breaking News

दिव्यांग भाई और बुजुर्ग मां के लिए युवक बना श्रवण कुमार, कांवड़ में बैठाकर रोज तय कर रहा 20 किमी का सफर

कावड़ (Kanwar) मेले के चलते हरिद्वार (Haridwar) से गंगा जल भरकर शिव भक्त अपने अपने गंतव्य की ओर रवाना हो चूके हैं. हरिद्वार हरकी पौड़ी से गंगा जल भरकर अपनी कावड़ में अपनी बुजुर्ग मां और दिव्यांग बड़े भाई (Elderly Mother and Divyang Elder Brother) को बैठकर कावड़ ला रहा युवक का मुजफफरनगर जनपद में पहुंचते ही चर्चा का विषय बना गया. दरअसल, बुलंदशहर जनपद के शेरपुर गांव निवासी विजय गुज्जर नाम का एक शिव भक्त अपनी 85 वर्षीय बुजुर्ग मां जग्गो देवी और अपने दिव्यांग बड़े भाई को हरिद्वार से गंगा जल भरकर अपनी कावड़ में बैठकर अपने एक दोस्त प्रवीण कुमार के साथ पैदल अपनी यात्रा कर रहा है.

रोजाना 20-25 किलोमीटर चलता है पैदल
बता दे कि युवक का नाम विजय गुज्जर है. इसके पिता की काफी समय पहले मृत्यु हो चुकी है. विजय गुज्जर की माने तो यह उनकी दूसरी कावड़ है. दो साल पहले जब वह अपनी पहली कावड़ लेकर आये थे तो हरियाणा के एक भोले को इसी तरह अपनी कावड़ में अपने माता पिता को यात्रा करते हुए उन्होंने देखा था. बस तब से ही विजय ने भी इस तरह से कावड़ लाने की ठान ली थी. जिसके चलते इस बार वह अपनी कावड़ में अपने दिव्यांग बड़े भाई और अपनी बुजुर्ग मां को बैठकर अपने एक दोस्त की मदद से अपनी यात्रा पूरी कर रहे है. विजय रोजाना 20 से 25 किलोमीटर अपनी कावड़ लेकर पैदल चलता है. 26 जुलाई को अपने गांव के शिव मंदिर में पहुंचकर विजय जलाभिषेक करेगा.

दूसरी कावड यात्रा
विजय गुज्जर ने बताया की मन की भावना जागी थी तब जाकर हरकी पौड़ी से जल उठाया है और अब बुलंदशहर के गांव शेरपुर तक जाना है. उन्होंने बताया कि कावड़ में माता जी हैं और बड़ा भाई है. इस तरह की सेवा करना शायद ही किसी के नसीब में होता है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि यह उनकी दूसरी कावड़ यात्रा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *