Breaking News

दिल्ली में हरदा को आशीर्वाद और अब संगठन में होगा बदलाव प्रीतम के करीबियों पर चलेगी कैंची !

उत्तराखंड (Uttarakhand) में हरीश रावत (Harish Rawat) की नाराजगी को कांग्रेस आलाकमान (Congress High Command) ने खत्म कर दिया और उन्हें राहुल गांधी ने आशीर्वाद भी दे दिया है. जिसके बाद राज्य में हरीश रावत और ज्यादा मजबूत होकर उभरे हैं. कांग्रेस आलाकमान ने चुनाव के बाद राज्य में बनने वाली स्थिति में हरीश रावत के सीएम की दावेदारी को तवज्जो देने का आश्वासन दिया है. लेकिन साफ कहा कि राज्य में सामूहिक नेतृत्व में चुनाव होंगे. वहीं रावत के करीबी माना जेने वाले प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल को भी संगठन के फैसलों के लिए हाईकमान ने फ्रीहैंडकर दिया है. जिसके बाद माना जा रहा है कि कांग्रेस संगठन में जल्द बदलाव होंगे और इस बार गोदियाल की कैंची हरीश रावत के विरोधी माने जाने वाले प्रीतम सिंह के करीबियों पर चलेगी.

दरअसल संगठन में फेरबदल नहीं हो पाने का मुद्दा पिछले दिनों दिल्ली में पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुई बैठक में राज्य ईकाई ने उठाया था. जुलाई को प्रदेश अध्यक्ष बनने वाले गोदियाल ने पूर्व अध्यक्ष प्रीतम सिंह की टीम को यथावत रखा है और वह धीरे धीरे प्रीतम के करीबियों को किनारे कर रहे थे और इसको लेकर प्रीतम ने अपनी नाराजगी जताई थी. जिसके बाद संगठन में परिवर्तन नहीं हो सके. वहीं हरीश रावत प्रकरण के बाद गणेश गोदियाल ने अपनी बात रखी और पार्टी ने अपने मुताबिक टीम बनाने पर हामी भर दी है. असल में कई जिलों और नगर में अध्यक्षों की नियुक्ति की जानी है और इसके लिए एक रिपोर्ट पिछले दिनों गणेश गोदियाल ने बनवाई थी. वहीं कहा जा रहा कि जिलों और महानगरों में प्रदेश के 52 नेताओं के साथ गोदियाल की बैठक के बाद उन्होंने कुछ नेताओं को हटाने की सिफारिश हाईकमान से की थी. वहीं अब पूर्व सीएम रावत के प्रकरण के बाद मुद्दा भी सुलझता नजर आ रहा है और बताया जा रहा है कि प्रीमत सिंह के करीबियों को संगठन में बदलाव के जरिए किनारे किया जाएगा.

परिवर्तन यात्रा के लिए कांग्रेस में बनी टीम

फिलहाल राज्य में कांग्रेस परिवर्तन यात्रा का आयोजन कर रही है और इसके जरिए वह राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साध रही है. वहीं कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, सांसद प्रदीप टम्टा, चार कार्यकारी अध्यक्ष व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय व कुछ और नेताओं की एक टीम बनाई है. जो हरीश रावत के नेतृत्व में काम कर रही है.

जनवरी के पहले सप्ताह में प्रत्याशियों के नामों का हो सकता है ऐलान

फिलहाल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची अब जनवरी के पहले सप्ताह में जारी हो सकती है. बताया जा रहा कि पार्टी की पहली सूची में 30 से अधिक उम्मीदवारों के नाम पर मुहर लगेगी. बताया जा रहा कि 2017 के चुनाव में छोटे अंतर से चुनाव हारने वाले प्रत्याशी और मौजूदा विधायकों के नाम इसमें शामिल होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *