Breaking News

दिल्ली का मैच देख रिकी पोंटिंग ने गुस्से में तोड़ दिए थे तीन-चार टीवी रिमोट, क्वारंटीन से बाहर आकर किया खुलासा

आईपीएल 2022 में दिल्ली का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। सात मैच में चार हार और तीन जीत के साथ यह टीम अंक तालिका में सातवें स्थान पर है। हालांकि, टीम के कोच रिकी पोंटिंग का मानना है कि उनकी टीम को जीत की पटरी पर वापस लौटने के लिए सिर्फ लय की जरूरत है। क्वारंटीन से बाहर आने के बाद पोंटिंग ने कई विषयों पर बात की। उन्होंने कहा कि बंद कमरे में राजस्थान के खिलाफ मैच देखते समय उन्होंने तीन से चार टीवी रिमोट तोड़ दिए थे। इसके अलावा पानी की कई बोतलों को भी दीवार पर फेंका था।

पोटिंग ने यह भी कहा कि उनकी टीम एक मैच में 36 से 37 ओवर तक अच्छा खेल दिखाती है, लेकिन तीन से चार ओवरों में पूरा मैच हार जाती है। इसी वजह से उनकी टीम निरंतरता के साथ प्रदर्शन नहीं कर पाई है। वहीं, पोंटिंग ने दूसरे हॉफ में अपने खिलाड़ियों को चेतावनी दी कि जीत के लिए जरूरत से ज्यादा तनाव न लें।

हम जीत की पटरी पर लौटने के करीब
रिकी पोंटिंग ने कहा “मुझे पता है कि हम जीत की पटरी पर लौटने के बेहद करीब हैं। हमें खुद पर विश्वास करना होगा, हमें यकीन करना होगा। हमें सकारात्मक रहने की जरूरत है। हम यहां से वापसी की जितनी ज्यादा कोशिश करेंगे, चीजें हमारे लिए उतनी मुश्किल होती चली जाएंगी। हम धैर्य के साथ वही चीजें करने वाले हैं, जो अब तक करते आए हैं और नतीजे अपने आप हमारे पक्ष में आएंगे। हमारी टीम इतनी बेहतर है कि नतीजे हमारे पक्ष में ही मिलें।”

क्वारंटीन में तोड़े कई रिमोट
पोंटिंग ने बताया कि एक कमरे में कैद होकर दिल्ली और राजस्थान का मैच देखना उनके लिए बहुत परेशान करने वाला था। पांच दिन बाद कमरे से बाहर आने वाले पोंटिंग ने कहा कि इस दौरान उन्होंने तीन-चार रिमोट तोड़ दिए थे और पानी की कई बोतलें दीवार पर फेंकी थी। उस मैच में चीजें अच्छी नहीं रही थीं, लेकिन वापसी करना बेहतर है।

उन्होंने कहा “जब आप कोच हों, लेकिन चीजें आपके नियंत्रण में न हों तो यह बहुत मुश्किल होता है।” वहीं कोरोना के मामलों पर उन्होंने कहा कि उनकी टीम में बाकी टीमों की तुलना में इसके मामले ज्यादा आए, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि अब इससे उबर कर उनकी टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी और टूर्नामेंट के दूसरे हाफ में बेहतरीन खेल दिखाते हुए प्लेऑफ में जगह बनाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *