Breaking News

त्यौहारों पर विस्फोटों से दहलाने की थी ऐसी साजिश, संदिग्ध आतंकियों का है पाक कनेक्शन

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने छह संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है। आईएसआई के इशारे पर यह आतंकी धमाकों की साजिश रच रहे थे। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने साजिश को नाकाम कर दिया। गिरफ्तार संदिग्ध आतंकियों में प्रयागराज का जीशान और प्रयागराज से ही जुड़ा ओसामा है। ये दोनों पाकिस्तान में आईएसआई से प्रशिक्षण ले चुके हैं। मुंबई अंडरवर्ल्ड से जुड़े और गिरफ्तार समीर कालिया का कनेक्शन प्रतापगढ़ के इम्तियाज उर्फ कल्लू से है। कल्लू से भी स्पेशल सेल ने पूछताछ की है। लखनऊ से गिरफ्तार आमिर कुर्सी रोड पर बने स्लॉटर हाउस में काम करता है और खजूर भी बेचता है। प्रयागराज से गिरफ्तार जीशान और फरार हुमैद खजूर सप्लाई करते हैं। जीशान ही आमिर को खजूर सप्लाई करता था।

जीशान के बारे में बताया जा रहा कि कुछ समय पहले तक वह सऊदी अरब में नौकरी करता था। लॉकडाउन के कारण वापस आया है। प्रयागराज में जीशान ने खजूर सप्लाई का बिजनेस शुरू किया। रायबरेली से गिरफ्तार लाला भाई उर्फ साजू उर्फ मूलचंद, ऊंचाहार के गांव अकुड़िया का रहने वाला है। ऊंचाहार, अकुड़िया के ही जमील खत्री से भी पूछताछ हुई। जमील खत्री का भी अंडरवर्ल्ड कनेक्शन बताया जा रहा है। नई दिल्ली से गिरफ्तार ओसामा का चाचा प्रयागराज का हुमैद है, जो फिलहाल फरार है। नई दिल्ली से गिरफ्तार अबू बकर भी उत्तर प्रदेश के बहराइच के जरवल का रहने वाला है। प्रयागराज से फरार हुमैद का पिता जामिया नगर मदरसे में पढ़ाता है। बताया जा रहा है कि मुंबई अंडरवर्ल्ड को बदमाश और नई दिल्ली के रास्ते आतंकवाद से जुड़ने वाले युवक यूपी से मिल रहे हैं।

15 सीरियल ब्लास्ट की थी तैयारी

मंगलवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और उत्तर प्रदेश एटीएस के संयुक्त ऑपरेशन में गिरफ्तार किए गए आतंकियों के निशाने पर त्योहारों के दौरान दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र सहित छह प्रदेशों के 15 शहर थे। इन शहरों की रेकी कर वहां बड़े पैमाने पर सीरियल ब्लास्ट करने की साजिश रच रहा था। इसके लिए मॉड्यूल के अलग-अलग संदिग्धों और उनके नेटवर्क से जुड़े लोगों के जिम्मे अलग-अलग काम सौंपा गया था।

ऐसा है पाकिस्तानी कनेक्शन

गिरफ्तार आतंकवादियों में से दो का पाकिस्तान से कनेक्शन सामने आया। इन दोनों ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग ली थी। कुछ दस्तावेजों से पता चला कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भी इनके पीछे है। आतंकियों की ट्रेनिंग करवाने में उसका भी हाथ था। बाद में पूछताछ के दौरान अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का नाम भी सामने आया। दरअसल देश में हथियार, रुपये और विस्फोटक आतंकियों तक पहुंचाने में दाऊद का भाई अनीस इनकी मदद कर रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *