Breaking News

तो इस वजह से कई राज्य सरकारें अभी स्कूलों को खोलने के लिए तैयार नहीं, ऑनलाइन और डिस्टेंस एजुकेशन पर ज्यादा जोर

लॉकडाउन के चार चरण के बाद केंद्र सरकार जन-जीवन को वापस पटरी पर लाने के लिए आठ जून से भारी छूट देने जा रही है। कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जगहों पर पहले की तरह सभी सेवाएं बहाल करने की तैयारी है, लेकिन स्कूल खोलने को लेकर कई राज्यों की सरकारों ने अभी इसपर फैसला नहीं किया है।

उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ सहित ज्यादातर राज्य जुलाई में स्कूलों को खोलने को तैयार नहीं हैं। राज्य सरकारें कह रही हैं कि जुलाई में स्कूलों को खोलना संभव नहीं है, क्योंकि ज्यादातर राज्यों में स्कूलों को क्वारंटीन सेंटर में तब्दील किया गया है। लगातार बढ़ती संक्रमितों की संख्या के बीच स्कूलों को खाली कराना संभव नहीं होगा। हालांकि कई राज्य केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश का इंतजार कर रहे हैं। दो दिन बाद राज्यों से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की जाएगी। फिलहाल ऑनलाइन और डिस्टेंस एजुकेशन पर ज्यादा जोर है।

उत्तर प्रदेश
राज्य के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने एडवाइजरी जारी कर कहा है कि प्रदेश के समस्त स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। हालांकि, इस दौरान ऑनलाइन या दूरस्थ शिक्षा की अनुमति दी जा सकती है। हालांकि सरकार ने जुलाई में स्कूल खोलने के लिए कहा है, लेकिन अभी कोई तारीख नहीं तय की गई है।

बिहार
बिहार में भी स्कूल-कॉलेज खोलने की तारीख जुलाई में ही तय होगी। जून में हालात की समीक्षा के बाद ही स्कूल, कॉलेज और कोचिंग आदि खोलने का फैसला होगा। स्कूल खोलने के लिए 10 बिंदुओं पर शिक्षा विभाग ने जिलों से सात जून तक रिपोर्ट मांगी है।

छत्तीसगढ़
राज्य में एक जुलाई से स्कूल नहीं खुलेंग। सरकार ने इससे साफ इनकार कर दिया है। स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा है कि स्कूल को लेकर तैयारी करनी होगी। बहुत स्कूलों को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है, उन्हें खाली कराकर सैनिटाइज करने होंगे और इसमें समय लगेगा।

महाराष्ट्र
कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र भी स्कूल खोलने की रणनीति पर काम कर रहा है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने साफ किया है कि दूरवर्ती इलाकों में जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी और संक्रमण नहीं है, वहां सामाजिक दूरी का पालन करते हुए स्कूलों को खोला जा सकता है।

झारखंड
राज्य सरकार की ओर से अभी तक स्कूल खोलने को लेकर कोई गाइडलाइन नहीं जारी की गई है। ऑनलाइन पढ़ाई जारी है, लेकिन बड़ी समस्या सरकारी स्कूल के बच्चों की है, उनके पास स्मार्ट फोन नहीं है।

चंडीगढ़
स्कूलों को खोलने का अभी कोई निर्णय नहीं किया गया है। जुलाई या अगस्त महीने में इस पर विचार हो सकता है।अंतिम फैसला केंद्र सरकार को ही लेना है। 

हरियाणा
शिक्षा निदेशालय ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों की कमेटियां बनाकर सात जून तक रिपोर्ट मांगी है। शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा है कि तीन चरणों में स्कूल खुलेंगे। हालांकि, स्कूल कब से खुलेंगे इसको लेकर कुछ भी स्पष्ट नहीं है।

पंजाब
पंजाब में स्कूलों को खोलने को लेकर सरकार ने कोई फैसला नहीं किया गया है। राज्य में 30 जून तक लॉकडाउन है। राज्य सरकार केंद्र की गाइडलाइन का इंतजार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *