Breaking News

तीन पर्वतारोही उस चोटी को फतह करने से पहले 3 लापता, ढूंढने में नाकाम रहा पाक सेना का हेलीकॉप्टर

तीन पर्वतारोही माउंट एवरेस्ट के बाद दुनिया के दूसरे सबसे ऊंचे पर्वत K2 की चोटी तक पहुंचने के प्रयास में लापता हो गए हैं। यह वही चोटी है, जिसे हॉलीवुड फिल्म ‘वर्टिकल लिमिट’ में दिखाया गया है। लापता पर्वतारोहियों के अभियान प्रबंधक और अल्पाइन क्लब ने शनिवार को कहा कि आइसलैंड से जॉन स्नोर्री, चिली से जुआन पाब्लो मोहर और पाकिस्तान से मुहम्मद अली सदपारा का शुक्रवार को बेस कैंप से संपर्क कट गया। ” 30 घंटे से ज्यादा हो गया, हमें (बेसकैंप में) जॉन स्नोर्री, अली सदापारा और जुआन पाब्लो मोहर की कोई खबर नहीं मिली है, क्योंकि कोई भी जीपीएस ट्रैकर काम नहीं कर रहा है,” प्रबंधक छंग दावा शेरपा ने एक बयान में कहा।

सेना के एक हेलीकॉप्टर ने लापता पर्वतारोहियों की तलाश में उड़ान भरी है। पाकिस्तान के अल्पाइन क्लब के सचिव करतार हैदरी ने भी एएफपी से बातचीत में पर्वतारोहियों के बर्फ से ढंके पहाड़ पर लापता होने जानकारी दी है। उत्तराखंड की पहाड़ियों में बिछी बर्फ की सफेद चादर, मौसम वैज्ञानिक इस वजह से चिंतित लापता लोगों की खबर एक दिन बाद आई, जब बुल्गेरियाई पर्वतारोही के K2 पर मरने की पुष्टि हुई थी। वह इस साल K2 की ढलान पर मरने वाले तीसरे पर्वतारोही हैं, पिछले महीने एक स्पेनिश पर्वतारोही की मौत हो गई थी।

जनवरी में एक मिशन के दौरान रूसी-अमेरिकी एलेक्स गोल्डफार्ब की भी पर्वतारोहण के दौरान पहाड़ पर मृत्यु हो गई। K2 की परिस्थितियां इंसानों के लिए खासी सख्त हैं। यहां हवाएं 200 किलोमीटर प्रति घंटे (125 मील प्रति घंटे) से अधिक तक हो सकती है और तापमान शून्य से नीचे 60 डिग्री सेल्सियस (माइनस 76 फ़ारेनहाइट) तक गिर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *