Breaking News

तीनों खानों को ऐसे टक्‍कर देते थे ‘हीरो नंबर वन’ हैं गोविंदा

बॉलीवुड में ‘हीरो नंबर वन’ और ‘चीची’ के नाम से मशहूर फिल्म अभिनेता गोविंदा (Govinda) का आज यानि जन्म दिन है। उनका जन्‍म 21 दिसंबर, 1963 को दिवंगत अभिनेता-निर्माता अरुण कुमार आहूजा (Arun Kumar Ahuja) और अभिनत्री-गायिका निर्मला देवी (actress-singer nirmala devi) के घर हुआ । फ़िल्मी बैकग्राउंड से ताल्लुक रखने वाले गोविंदा ने भी अभिनय को ही अपने करियर के रूप में चुना और साल 1986 में आई फिल्म इल्जाम से बतौर अभिनेता अपने अभिनय करियर की शुरुआत की।

आज आज भी कॉमिक टाइमिंग के मामले में उनका कोई सानी नहीं है। उस दौर में वह बॉलीवुड के तीनों खान को अकेले ही कांटे की टक्कर देते थे। इस फिल्म में अभिनेत्री नीलम के साथ उनकी जोड़ी काफी पसंद की गई और फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट हुई, हालांकि इससे पहले नीलम और गोविंदा फिल्म लव 86 में स्क्रीन साझा कर चुके थे लेकिन इस फिल्म में गोविंदा सहायक भूमिका में थे।

फिल्म इल्जाम के सुपरहिट होने के बाद गोविंदा ने कई शानदार और हिट फ़िल्में दी। जिनमें कुली नंबर 1, मनी है तो हनी है, कुंवारा, अनाड़ी नं.1, बड़े मियां छोटे मियां, परदेसी बाबू, आंटी नंबर 1, हीरो नंबर 1,शिकारी, पार्टनर, हद कर दी आपने, स्वर्ग, भागम भाग, हॉलिडे आदि शामिल हैं। फिल्मों में हर तरह के किरदार निभाने वाले गोविंदा बॉलीवुड में अपनी जबरदस्त कॉमेडी, इमोशन, ड्रामा, एक्शन को खास तौर से प्रेजेंट करने के लिए जाने जाते हैं।

शानदार अभिनय से दर्शकों के दिलों को जीतने वाले गोविंदा ने साल 2004 में राजनीति का रुख किया और कांग्रेस पार्टी ज्वाइन की। इस साल वह कांग्रेस के टिकट पर 2004 में उत्तर मुंबई से सांसद हुए। उन्होंने अपने क्षेत्र में परिवहन, स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए काफी काम भी किया। लेकिन बाद में वह लोकसभा का सत्र चलने के दौरान वह ज्यादातर गैरहाजिर रहने लगे तो सवालों के घेरे में आ गए। आखिरकार उन्होंने बॉलीवुड पर समय देने के लिए सांसद पद छोड़ दिया।

गोविंदा की निजी जिंदगी की बात करें तो उनकी पत्नी का नाम सुनीता आहूजा है। गोविंदा और सुनीता के दो बच्चे नर्मदा आहूजा और यशवर्धन आहूजा हैं। गोविंदा अभी काफी समय से फ़िल्मी दुनिया से दूर हैं, लेकिन वह अक्सर कई टीवी शोज में बतौर गेस्ट नजर आते हैं। गोविंदा के चाहने वालों की संख्या आज भी लाखों में हैं। हालांकि इंडस्ट्री में आज कई हीरो हैं, लेकिन गोविंदा- एक ही हैं, उनकी खासियत है उनका डांसिंग स्टाइल, उनके एक्सप्रेशन, उनके शब्दों का चुनाव, उनका लंबा चौड़ा डायलॉग सरलता से बोलने का अंदाज। ये खासियत गोविंदा को आज के बाकी बॉलीवुड स्टार्स से बिलकुल अलग बनाती है और शायद यहीं वजह है कि आज भी गोविंदा सिर्फ बॉलीवुड ही नहीं बल्कि अपने चाहनेवालों के भी हीरो नंबर वन हैं।

अगर फिल्‍मों की बात करें तो गोविंदा की फिल्मों को लोग इतना पसंद करते थे कि उन्हें देखने के लिए थिएटर के बाहर लाइन लगती थी। उस वक्त थिएटर में भारी भीड़ देखकर ही लोगों को अंदाजा हो जाता था कि उनकी फिल्म लगी है। ‘राजा बाबू’, ‘शोला और शबनम’, ‘कुली नंबर 1′,’दीवाना मस्ताना’, ‘बड़े मिया छोटे मिया’, ‘हीरो नंबर 1’, ‘हसीना मान जाएगी’, ‘साजन चले ससुराल’, ‘दूल्हे राजा’ कुछ ऐसी ही फिल्में हैं, जो सुपरहिट साबित हुई थीं। वहीं, अभिनेता की शादीशुदा जिंदगी की बात करें तो उन्होंने 1987 में सुनीता आहूजा से शादी की थी और दोनों के दो बच्चे टीना आहूजा और यशवर्धन आहूजा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *