Breaking News

ताजमहल के अलावा दुनियाभर में प्यार की निशानी मानी जाती हैं ये इमारतें

केली कैसल मलेशिया में मौजूद है. कहा जाता है कि इसे विलियम केली स्मिथ ने अपनी पत्नी के लिए बनवाया था.
इतना ही नहीं इस महल में इंडियन डिजाइन का भी यूज किया गया है.

इंग्लैंड के डोब्रॉयड कैसल को 1869 में तैयार किया गया था. कहा जाता है कि यहां रहने वाले जॉन फिल्डन नाम के एक अमीर व्यक्ति ने अपनी प्रेमिका के लिए इसे बनवाया था.

इंग्लैंड के डोब्रॉयड कैसल को 1869 में तैयार किया गया था. कहा जाता है कि यहां रहने वाले जॉन फिल्डन नाम के एक अमीर व्यक्ति ने अपनी प्रेमिका के लिए इसे बनवाया था.
जापान में स्थित कोडाइ जी मंदिर का निर्माण 1606 में किता-नो-मंडोकरो ने अपनी पत्नी की याद में करवाया. जापान के सबसे खूबसूरत इमारतों में से एक इस मंदिर में आज भी लोग बड़ी संख्या में दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं
जापान में स्थित कोडाइ जी मंदिर का निर्माण 1606 में किता-नो-मंडोकरो ने अपनी पत्नी की याद में करवाया. जापान के सबसे खूबसूरत इमारतों में से एक इस मंदिर में आज भी लोग बड़ी संख्या में दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं
थाइलैंड में मौजूद परमत फीमई मंदिर को भी प्यार की निशानी माना जाता है. कहा जाता है इसका निर्माण एक लड़की ने पजित नाम के लड़के के लिए करवाया था. इसकी कहानी काफी रोचक भी मानी जाती है.
थाइलैंड में मौजूद परमत फीमई मंदिर को भी प्यार की निशानी माना जाता है. कहा जाता है इसका निर्माण एक लड़की ने पजित नाम के लड़के के लिए करवाया था. इसकी कहानी काफी रोचक भी मानी जाती है.
प्यार की निशानी की बात हो तो ताजमहल को कैसे भूला जा सकता है. मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज की याद में इस खूबसूरत इमारत का निर्माण करवाया और आज भी इसे सच्चे प्यार की मिसाल के तौर पर जाना जाता है.
प्यार की निशानी की बात हो तो ताजमहल को कैसे भूला जा सकता है. मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज की याद में इस खूबसूरत इमारत का निर्माण करवाया और आज भी इसे सच्चे प्यार की मिसाल के तौर पर जाना जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *