Breaking News

टिफिन बम मिलने से हड़कंप, पुलिस ने कई लोगों को पकड़ा

सुरक्षा एजेंसियों ने पंजाब के फिरोजपुर जिले के निहंग वाले झुग्गे से एक टिफिन बम बरामद किया है। एजेंसियों को गुप्त सूचना मिली थी कि शरारती तत्व दीपावली पर किसी वारदात को अंजाम देने वाले हैं। रात से ही एजेंसियों का तलाशी अभियान जारी था। दीपावली के दिन पुलिस को सीमांत गांव निहंग वाले झुग्गे से टिफिन बम मिलने पर हड़कंप मच गया। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है। 15 सितंबर को जलालाबाद में टिफिन बम से एक बाइक में धमाका हुआ था। इस धमाके में इसी गांव के बलविंदर सिंह की मौत हो गई थी। बलविंदर के साथ सीमांत गांव चांदी वाला का सुखविंदर सिंह सुक्खा था। वारदात में सुक्खा का जीजा प्रवीन निवासी धरमूवाला (जलालाबाद) भी शामिल था। पुलिस ने प्रवीन कुमार (जीजा) को सीमांत गांव धर्मूवाला से और सुखविंदर सिंह उर्फ सुक्खा (साला) को राजस्थान से गिरफ्तार किया गया था।

प्रवीन के पास से दो टिफिन बम मिले थे। दोनों अब जेल में हैं। आरोपियों ने फिरोजपुर में भी दो धमाके किए थे। दो दिन पहले जगरांव से दो लोगों को पकड़ा गया था, जो इनके साथी हैं। पूछताछ में आरोपियों से दीपावली पर धमाके की योजना का खुलासा किया था। इसके बाद पुलिस ने टिफिन बम बरामद किया है। बम मिलने के बाद पूरे फिरोजपुर व पंजाब में चौकसी बढ़ा दी गई है।

15 सितंबर की रात हुआ था धमाका

15 सितंबर की रात सवा आठ बजे जलालाबाद में बाइक की पेट्रोल की टंकी में भीषण विस्फोट हुआ था। जांच में पता चला की टंकी के नीचे टिफिन बम लगाकर धमाका किया गया था। इसके बाद सुक्खा वहां से भाग निकला था। जबकि धमाके में सुक्खा का साथी बलविंदर सिंह निवासी सीमांत गांव निहंगे वाला झुग्गे (फिरोजपुर) की मौत हो गई थी।

निशाने पर थी सब्जी मंडी

आरोपियों के निशाने पर जलालाबाद की सब्जी मंडी थी। उन्होंने यहां पर धमाके की साजिश रची थी। 15 सितंबर की रात पूरी प्लानिंग के साथ जलालाबाद पहुंचे। बाइक में टिफिन बम लगाकर मंडी में रखने की योजना थी। लेकिन मंडी से सौ गज की दूरी पर अचानक बाइक पर ही जोरदार धमाका हो गया। धमाके में बाइक चला रहे बलविंदर सिंह की मौत हो गई थी।

एनआईए कर रही मामले की जांच

एक नवंबर को ब्लास्ट मामले में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने पंजाब के फिरोजपुर व फाजिल्का जिले के चार स्थानों पर दबिश दी थी। तलाशी में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण व अभियुक्तों के पाकिस्तानी तस्करों व आतंकवादी से जुड़े होने के संबंधित आपत्तिजनक दस्तावेज मिले थे। एक अक्तूबर को इस मामले में एनआईए ने मामला दर्ज किया था और अब तक तीन लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *