Breaking News

जानिए किस समय करना चाहिए गायत्री मंत्र का जाप, क्या है चमत्कारिक लाभ

हमारे पुराणों और शास्त्रों में गायत्री मंत्र को बेहद शक्तिशाली बताया गया है | इस मंत्र में हर संकट को हरने की क्षमता होती है | इस मंत्र के जाप से जीवन की हर परेशानी, दुःख को दूर किया जा सकता है | इस मंत्र का जाप व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाता है, इतना ही नहीं व्यक्ति को अपने कार्यो में सफलता प्राप्त होती है | आज हम आपको इस मंत्र से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बाते बताने जा रहे है |

गायत्री मंत्र
गायत्री मंत्र का अर्थ
सृष्टिकर्ता प्रकाशमान परमात्मा के तेज का हम ध्यान करते हैं, परमात्मा का वह तेज हमारी बुद्धि के सन्मार्ग की ओर चलने के लिए प्रेरित करें |
जप की विधि
 
 
यदि आप गायत्री मंत्र का जाप कर रहे है, तो आप रुद्राक्ष की माला का ही प्रयोग करे | इससे पहले आप स्नान आदि से निवृत हो ले | इसके बाद अपने घर के किसी शांत स्थान या पूजाघर के सामने बैठकर गायत्री मंत्र का जाप करे | इस मंत्र का जाप आप कम से कम 108 बार करे |
मंत्र जाप का समय
 
 
> गायत्री मंत्र का जाप सूर्योदय से कुछ देर पहले आरम्भ कर देना चाहिए और सूर्योदय के कुछ देर तक करना चाहिए |
> गायत्री मंत्र का जप आप दोपहर के समय भी कर सकते है |
>इसके बाद आप सूर्यास्त के कुछ देर पहले से लेकर सूर्यास्त के कुछ देर बाद तक मंत्र का जाप कर सकते है |
गायत्री मंत्र जाप के फायदे
 
 
>इससे व्यक्ति में उत्साह और सकारात्मकता बनी रहती है |
>बुराइयां मन से दूर होने लगती है |
>धर्म के कार्यो में मन लगता है |
>क्रोध शांत होता है |
>स्वप्न सिद्धि प्राप्त होती है |
>त्वचा चमकदार बनती है |
>आशीर्वाद देने की शक्ति बढ़ती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *