Breaking News

चक्रवात “असानी” पड़ा कमजोर, उत्तर-मध्य भारत में अभी नहीं मिलेगी गर्मी से राहत

देश की राजधानी दिल्ली समेत उत्तर-मध्य भारत (North-central India including Delhi) के अन्य राज्यों में फिलहाल गर्मी के प्रकोप (heat stroke) से राहत मिलने के कोई आसार नहीं नजर आ रहे हैं. भारतीय मौमस विभाग (Indian Meteorological Department) के मुताबिक उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में अगले 5 दिनों तक भयंकर गर्मी पड़ेगी. इस दौरान लोगों को लू के थपेड़ों (heat wave) का सामना करना पड़ेगा. उत्तर-मध्य भारत में औसत अधिकतम तापमान के 43 से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहले की संभावना है। आईएमडी के पूर्वानुमान के मुताबिक 16 मई से वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से दिल्ली के तापमान में कुछ कमी आएगी।

इधर हरियाणा, राजस्थान समेत कई राज्यों में भीषण गर्मी जारी है. यूपी, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ में तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। ओडिशा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश आदि कई राज्य हैं, जहां पर चक्रवाती तूफान असानी की वजह से तेज बारिश होगी. स्काईमेट वेदर के मुताबिक शुक्रवार को गुजरात व राजस्थान के कई हिस्सों, विदर्भ, मराठवाड़ा, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और दक्षिण हरियाणा के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति संभव है. मौसम वैज्ञानिकों ने बताया पूर्वी भारत में अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी के आसार कम हैं, लेकिन इसके बाद पारा 2 से 4अडिग्री तक चढ़ सकता है।

पूर्वी उत्तर प्रदेश में बूंदाबादी की संभावना
वहीं राजस्थान में तापमान 44 से 46 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है. ऐसा ही हाल मध्य प्रदेश का रहना वाला है. यहां 15 मई तक लू चलने के आसार हैं. इसके अलावा हरियाणा, दिल्ली व पंजाब में भी 12 से 15 मई तक भयंकर गर्मी पड़ने के आसार हैं. उत्तर प्रदेश में बूंदाबांदी से गर्मी से थोड़ी राहत मिली है. राज्य के पूर्वी जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हुई ​​है. आईएमडी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, कुशीनगर, गोंडा, बस्ती और गोरखपुर के आसपास के इलाकों में 13 मई तक गरज और चमक के साथ बारिश होने की संभावना जताई है. मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में आया असानी चक्रवाती तूफान धीरे-धीरे कमजोर हो रहा है।

असानी कमजोर पड़ा, मौसम में बदलाव
उत्तर प्रदेश के आस-पास मध्यम पश्चिमी विक्षोभ और गर्त (ट्रफ) हवाओं का असर देखा जा रहा है. मौसम विभाग ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में 14 और 15 मई को छोड़ कर 17 मई तक गरज के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है. ओडिशा-आंध्र प्रदेश में चक्रवाती तूफान असानी का असर दिखाई दे रहा है और बारिश के साथ तेज हवाएं भी चल रही हैं. स्काईमेट वेदर के मुताबिक ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में शुक्रवार को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है और अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है. पूर्वोत्तर भारत, केरल के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक, सिक्किम और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

बिहार और झारखंड में बारिश का अलर्ट
बिहार, झारखंड, आंतरिक ओडिशा, दक्षिण छत्तीसगढ़, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, कोंकण और गोवा, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की बारिश हो सकती है. मध्य प्रदेश में अगले तीन दिनों तक गर्मी से राहत नहीं मिलेगी. 15 मई तक सूबे के कुछ जिलों में लू चलने के आसार हैं. मौसम विभाग ने कहा है कि 18 मई तक मध्य प्रदेश का मौसम आमतौर पर शुष्क बना रहेगा. इसके बाद मौसम का मिजाज बदलता नजर आएगा और प्री मानसून बारिश हो सकती है. मौसम वैज्ञानिकों के पूर्वानुमान के मुताबिक 16 मई तक झारखंड के विभिन्न इलाकों में बारिश की संभावना बनी हुई है. वहीं अगले 4 दिन बिहार के पश्चिमी-पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, सिवान, सारण और वैशाली आदि में थंडर स्टॉर्म की स्थिति बन सकती है. इस दौरान हल्की से मध्यम बारिश होने के भी आसार नजर आ रहे हैं।

राजस्थान को गर्मी और लू से राहत नहीं
पूर्वी राजस्थान के भरतपुर, जयपुर, कोटा व उदयपुर संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर अधिकतम तापमान 45 से 46 डिग्री रिकॉर्ड होने की प्रबल संभावना है. मौसम विभाग ने बताया कि आगामी चार-पांच दिनों के दौरान राज्य में मौसम शुष्क बना रहेगा. राजस्थान के पश्चिमी भाग में लगभग सभी स्थानों पर अधिकतम तापमान 45-46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. राज्य के अधिकतर भागों में लू का दौर जारी है. अगले 48 घंटों में अधिकतम तापमान में 1 से 2 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी होने से पश्चिमी राजस्थान के लगभग सभी स्थानों पर लू तथा कहीं-कहीं भीषण लू चलने की संभावना बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *