Breaking News

घोड़े की आवाज निकालकर 2 साल से कर रहा था पड़ोसियों को तंग, अब हुई 3 साल से ज्यादा की जेल

सुनने में ये बेहद अजीब है, लेकिन एक शख्स को सिर्फ इसलिए जेल भेजा गया (Man sentenced for torturing neighbours) क्योंकि वो अपने पड़ोसियों को रात को सोने नहीं देता था. आम तौर पर जुर्माना देकर छोड़ दिए जाने वाले इस अपराध के लिए एक शख्स को साढ़े तीन साल की जेल की सज़ा सुनाई गई है. रूस (Russia) में हुआ ये वाक्या वाकई बेहद दिलचस्प है, क्योंकि इस पड़ोसी के दूसरों को परेशान करने का अंदाज़ भी अनोखा था. ये उन्हें रात में सोने ही नहीं (Sound of horse neighing) देता था.

47 साल के इस शख्स को पड़ोसियों की नींद (Man sentenced for torturing neighbours) से ही दिक्कत थी. वो रात में रोज़ाना 2 घंटे तक उन्हें घोड़े के हिनहिनाने (Sound of horse neighing) और भागने की आवाज़ सुनाता था. पड़ोसी उसकी इस आदत से इतने परेशान थे कि उन्होंने 80 बार इसकी शिकायत पुलिस और स्थानीय अधिकारियों से की. आखिरकार Yuri Kondratyev नाम के इस शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार ही कर लिया और उसे रूस के कानून (Russian Law) के मुताबिक पड़ोसियों को लगातार परेशान करने के लिए 3 साल 5 महीने की सज़ा दी गई.

2 साल से कर रहा था पड़ोसियों को तंग

युरी कोंड्रात्येव (Yuri Kondratyev) साल 2018 से दो साल तक लगातार अपने अपार्टमेंट के लोगों को परेशान करता रहा. Nizhny Novgorod नाम के शहर में रहने वाले इस शख्स ने अपने पड़ोसियों को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के बाद कई अखबारों में सुर्खियां भी बटोरीं. दरअसल ये शख्स बेरोज़गार था, जिसे उसे पत्नी कुछ साल पहले छोड़कर चली गई थी. इसके बाद ही उसने अपने पड़ोसियों को इस तरह की आवाज़ों से परेशान करना शुरू कर दिया था. पहले तो वो घर में तेज़ आवाज़ में घंटों गाने बजाया करता था और बाद में उसने इस रिकॉर्ड को घोड़े के हिनहिनाने और दौड़ने की आवाज़ से बदल दिया.

खुद को मानसिक रूप से फिट बताया

जब पड़ोसियों ने उसकी इस हरकत की शिकायत की तो उसे मानसिक अस्पताल भेजे जाने की बात की तो इस शख्स ने मनोचिकित्सक का ये सर्टिफिकेट भी पेश कर दिया, जिसमें लिखा गया था कि वो मानसिक तौर पर बिल्कुल ठीक है. हालांकि घोड़े की आवाज़ से रात को पड़ोसियों तंग करना उसने जारी रखा. अप्रैल 2018 से दिसंबर 2020 के बीच उसके खिलाफ 80 शिकायतें हुईं और उसने कई बार जुर्माना भी भरा लेकिन पड़ोसियों को टॉर्चर करना उसने कभी बंद नहीं किया. आखिरकार उसके खिलाफ रूस में कानून की धारा 117 के तहत उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ और उसे जेल भेजा गया. रूस के इतिहास में ये अपने तरह क पहला मामला है. रूस क्या, शायद किसी ही देश में कोई शख्स इसलिए जेल गया हो, क्योंकि उसने पड़ोसियों को घोड़े की आवाज़ निकालकर सोने नहीं दिया. ज्यादातर ऐसे केसेज़ में फाइन देकर ही शख्स को छोड़ दिया जाता है. हालांकि यहां भी युरी ने आखिर तक ये कुबूल नहीं किया कि उसने ये आवाज़ें निकाली और लोगों को तंग किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *