Breaking News

गोरखपुर में भिखारी की जेब से निकला लाखों का कैश, देखकर हैरान रह गए लोग

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) में एक भिखारी (Beggar) की जेब से तीन लाख 64 हजार रुपए निकले हैं. इतना कैश (cash) देखकर लोग हैरान रह गए. दरअसल, शहर के भटहट बाजार में भिखारी को बाइक सवार ने टक्कर मार दी. इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. सूचना के बाद पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया. पुलिस जब भिखारी से पहचान पत्र मांग रही थी, उसी दौरान उसकी जेब से लाखों का कैश निकल आया. फिलहाल कैश थाने में जमा है.

जानकारी के अनुसार, पिपराइच थाना क्षेत्र के समदार खुर्द निवासी शरीफ बऊंक मूक बधिर है. उसकी उम्र लगभग 50 वर्ष के आस-पास बताई जा रही है. शरीफ के परिवार में अन्य कोई नहीं है, वह अपने भतीजे इनायत अली के साथ रहता है.स्थानीय लोगों के अनुसार, शरीफ रोजाना भटहट बाजार में टैक्सी स्टैंड पर सवारियों को बसों और टैक्सियों में बैठाता था. इसके ऐवज में उसे कुछ पैसे मिल जाते थे. इसके साथ ही वह लोगों से भीख भी मांगता था.

शुक्रवार की पिपराइच थाना क्षेत्र का युवक अपने साथी के साथ बाइक से आ रहा था, तभी बाइक की चपेट में आकर शरीफ गंभीर रूप से घायल हो गया. इस घटना की सूचना लोगों ने पुलिस को दे दी. इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और बाइक सवार युवकों को हिरासत में ले लिया. वहीं घायल भिखारी को इलाज के लिए भटहट अस्पताल ले जाया गया.

इस दौरान भिखारी का पहचान पत्र (ID) तलाश रही पुलिस को जब उसकी जेब से पैसे निकलते देखे तो चौकी इंचार्ज ज्योति नारायण तिवारी दंग रह गए. इस दौरान पता चला कि भिखारी के पास उसकी जेब में कुल 3.64 लाख रुपए कैश हैं. भिखारी के पास इतना कैश देखकर लोग हैरान रह गए. इस कैश में 2000 के 168 नोट मिले हैं. यह कैश थाने में जमा है. शरीफ ने किसी और को पैसे देने के लिए इशारे में मना किया था.

SHO बोले- भिखारी की जेब से 3 लाख 64 हजार 150 रुपए मिले हैं
गुलरिहा थाने के एसएचओ मनोज कुमार पांडेय का कहना है कि एक भिखारी का एक्सीडेट हो गया था. उसकी जेब से कुल तीन लाख 64 हजार 150 रुपया बरामद हुए हैं. चूंकि भिखारी का पैर फ्रैक्चर हो गया है, इसलिए उसको बेहतर इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कॉलेज भेजा गया है.

अभी तक कोई पैसों को क्लेम करने नहीं आया, थाने में जमा है कैश
एसएचओ ने बताया कि मुझे इस घटना की जानकारी नहीं थी. जब इतनी बड़ी मात्रा में रकम थाने में आई, तब पता चला. फिलहाल रकम थाने के मालखाने में दाखिल है. अभी तक कोई और पैसों को क्लेम करने नहीं आया है. चौकी इंचार्ज के मुताबिक, जब भिखारी से पूछा कि पैसे तुम्हारे भतीजे को दे दिए जाएं, तो उसने इशारे में मना कर दिया.

शरीफ ने कहा कि पैसा आप थाने में ही रखिए. जब मैं ठीक होकर आ जाऊंगा, तब वापस ले लूंगा. कैश में दो हजार के 168 नोट, 500 के 50 नोट, 200 के 4 नोट, 100 के 14 नोट, 50 के 12 नोट, 20 के 4 नोट और 10 के 27 नोट मिले हैं. भिखारी की उम्र लगभग 50 वर्ष के आस-पास होगी. हादसे से पहले वह शारीरिक रूप से फिट दिख रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *