Breaking News

गैरसैंण के विकास का खाका तैयार करने में जुटे त्रिवेंद्र

उत्तराखंड आंदोलन की जनभावनाओं के केंद्र गैरसैंण (भराड़ीसैंण) के राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनने के बाद अब प्रदेश सरकार गैरसैंण के विकास का खाका खींचने में जुट गई है। इसके दृष्टिगत गैरसैंण के मास्टर प्लान के लिए सरकार जल्द ही विशेषज्ञ समिति का गठन करने जा रही है। सरकार का इरादा गैरसैंण में स्मार्ट टाउनशिप विकसित करने का है। विशेषज्ञ समिति इसके लिए वन भूमि हस्तांतरण समेत अन्य मसलों का निराकरण कराएगी। इसके अलावा गैरसैंण के लिए सड़क, रेल व एयर कनेक्टिविटी की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। गैरसैंण के चारों तरफ 45 किलोमीटर की परिधि में राज्य ग्रीष्मकालीन राजधानी क्षेत्र बनाने पर भी मंथन चल रहा है। इससे आसपास के क्षेत्रों के विकास के दरवाजे भी खुलेंगे।

भौगोलिक लिहाज से राज्य के मध्य में स्थित गैरसैंण को मौजूदा प्रदेश सरकार ने इसी वर्ष मार्च में ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया। इसका नोटिफिकेशन होने के बाद अब गैरसैंण के विकास पर ध्यान केंद्रित किया गया है। इसका मास्टर प्लान इस तरह से तैयार करने पर जोर दिया जा रहा कि विकास के अंकुर ऊपर से नीचे की तरफ फूटें। इसी के तहत ग्रीष्मकालीन राजधानी परिसर के साथ ही इसके चारों तरफ 45 किमी के दायरे को ग्रीष्मकालीन राजधानी क्षेत्र घोषित कर स्वास्थ्य, सड़क, पेयजल, शिक्षा समेत अन्य नागरिक सुविधाओं के लिए आधारभूत ढांचा तैयार किया जाएगा। पेयजल के लिए झील की कवायद शुरू हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *