Breaking News

‘गुरू मैं ही हूं और मैं ही रहूंगा’, राम रहीम ने उत्तराधिकारी की अटकलों को किया खारिज

पैरोल पर जेल से बाहर डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने रविवार को उन अटकलों को खारिज कर दिया कि सिरसा मुख्यालय वाले पंथ के प्रमुख के लिए उसके संभावित उत्तराधिकारी के रूप में कोई उभरेगा. राम रहीम ने कहा कि यह केवल मीडिया की अटकलें हैं. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम  ने कहा कि हम गुरू थे, हैं और रहेंगे. बता दें कि डेरा सच्चा सौदा के हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में बड़ी संख्या में अनुयायी हैं.

दरअसल पिछले कई दिनों से राम रहीम उत्तर प्रदेश में अपने बरनवा आश्रम से ऑनलाइन प्रवचन कर रहा है, जिसमें उसके अनुयायियों समेत हरियाणा के कुछ भाजपा नेताओं ने हिस्सा लिया है. जींद से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक कृष्ण लाल मिड्ढा अन्य डेरा अनुयायियों के साथ अपने निर्वाचन क्षेत्र में एक ऑनलाइन सत्संग में शामिल हुए.

हनीप्रीत को दिया नाम नाम

अपनी दो शिष्याओं से बलात्कार के आरोप में 20 साल कैद की सजा काट रहा डेरा प्रमुख हाल में सुनारिया जेल से 40 दिन की पैरोल पर बाहर आया, जिसके बाद वह बरनावा आश्रम गया. सत्संग के एक वीडियो में उत्तराधिकार के मुद्दे पर बात करने से पहले डेरा सच्चा सौदा प्रमुख ने संकेत दिया कि हनीप्रीत (राम रहीम की मुख्य शिष्या) डेरा की व्यवस्था में जिस भी भूमिका में है, वह बनी रहेगी. साथ ही, कहा कि उसे और अधिक खुशी मिले. राम रहीम ने कहा कि हर कोई जानता है कि उसका नाम हनीप्रीत है, वह मेरी मुख्य शिष्या है. मैंने उसे एक नाम भी दिया है और मैं उसे रूह-दी या रूहानी दीदी कह कर पुकारता हूं.

बरनवा आश्रम से ऑनलाइन सत्संग

डेरा प्रमुख बागपत में डेरा के बरनवा आश्रम से केवल ऑनलाइन सत्संग कर रहा है. राम रहीम को पिछले साल चार अन्य लोगों के साथ डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह की हत्या की साजिश रचने के आरोप में भी दोषी ठहराया गया था. डेरा प्रमुख और तीन अन्य लोगों को 16 साल से भी अधिक समय पहले एक पत्रकार की हुई हत्या के मामले में 2019 में दोषी करार दिया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *