Breaking News

खौफनाक: सेल्समैन को पांच महीने से नहीं दिया था वेतन, मांगने पर शराब ठेकेदार ने डीप फ्रीजर में डालकर जिंदा जलाया

एक दर्दनाक घटना में, राजस्थान के अलवर जिले में एक शराब ठेकेदार ने सेल्समैन के रूप में काम करने वाले एक दलित युवक को कथित रूप से पांच महीने का अपना बकाया वेतन मांगने पर उसे आगे के हवाले कर दिया। पुलिस ने कहा कि कमल किशोर का अधजला शव बाद में शराब की दुकान में डीप फ्रीजर में मिला।

कमल के भाई रूप सिंह ने खैरथल पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराई, जिसमें उसने उल्लेख किया कि शराब ठेकेदार सुभाष और राकेश यादव से बकाया वेतन मांगने पर कमल किशोर को जिंदा जला दिया गया। दोनों फरार हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया ने सोमवार को ट्वीट किया, ऐसा लगता है कि हम अफ्रीका में सोमालिया में रह रहे हैं, जहां कोई कानून-व्यवस्था नहीं है। क्या सीएम अशोक गहलोत को अपने पद पर रहने का कोई हक है। उन्होंने एक हैशटैग क्राइमकैपिटलराजस्थान भी लगाया।

The surprising link between balmy winters and violent crime | Popular  Science

राजस्थान के एक मंदिर के पुजारी को जमीन के विवाद में जिंदा जलाने के बाद अब जिंदा जलाने की ये दूसरी घटना सामने आई है। पुलिस के अनुसार, अलवर के झड़का गांव के रहने वाले मृतक कमल किशोर (22) की शनिवार की रात कमपुर गांव में जलने से मौत हो गई। पुलिस ने कहा कि एक फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल का दौरा किया। पुलिस ने कहा, मामले में और सबूत मिलने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

रूप सिंह ने आरोप लगाया कि कमल किशोर का वेतन पिछले पांच महीनों से बकाया था। वह घर लौट आया, लेकिन शनिवार शाम को, ठेकेदार और उनके साथी उसके घर पहुंचे और कमल किशोर को अपने साथ ले गए। रूप सिंह के मुताबिक, रात में कमल किशोर के अंदर होने के बावजूद शराब की दुकान में पेट्रोल डालकर आग लगा दी गई। रविवार की सुबह, जब दुकान के शटर को तोड़ा गया तो कमल किशोर फ्रीजर के अंदर मृत पाया गया।

What happens when you look at crime by the numbers | Science News for  Students

पुलिस शव को ऑटोप्सी के लिए खैरथल सैटेलाइट अस्पताल में ले गई। अपराधियों की गिरफ्तारी और न्यायायिक जांच की मांग कर रहे परिजनों ने रविवार शाम तक पोस्टमार्टम नहीं होने दिया था। दिनभर की मशक्कत, समझाने-बुझाने के बाद आखिरकार पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *